PM Modi Corona Vaccine: पीएम मोदी ने लगाई कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज,लोगों से भी टीका लगवाने की अपील

Top News

PM Modi Corona Vaccine: पीएम मोदी (PM Modi’s) ने लगाई कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज,लोगों से भी टीका लगवाने की अपील

PM Modi Corona Vaccine
Advertisement
PM Modi Corona Vaccine

कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन (COVID-19 Vaccination) अभियान का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने भी मार्च 2021 के पहले ही दिन सुबह-सुबह दिल्ली AIIMS में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली।

अब जब कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) अभियान का दूसरा चरण आज (1 मार्च 2021) से शुरू हो गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 2021 के पहले ही दिन सुबह-सुबह दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) पहुंचे

और वैक्सीन की पहली खुराक ली, साथ ही उन्होंने देशवासियों से वैक्सीन लगवाने की अपील भी की है। प्रधानमंत्री ने वैक्सीन की पहली डोज की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से भी शेयर की।

उन्होंने ट्वीट करके कहा कि ‘मैंने एम्स में कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली, यह तारीफ के काबिल है कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूती देने के लिए तेजी से काम कियाउन्होंने कहा कि मैं सभी से अपील करता हूं जो भी वैक्सीन लगवाने के योग्य है, वह भारत को कोरोना मुक्त बनाने में साथ आए

PM मोदी को पुडुचेरी की सिस्टर पी निवेदिता के माधयम से ‘भारत बायोटेक’ की वैक्सीन (PM Modi Corona Vaccine) दी गई है। 

पुडुचेरी की सिस्टर पी निवेदिता ने कहा कि

पीएम मोदी को कोरोना वैक्‍सीन देने वालीं सिस्टर पी. निवेदा ने कहा कि, ‘पीएम मोदी को भारत बायोटेक की COVAXIN की पहली डोज दी गई है। दूसरी डोज 28 दिन बाद दी जाएगी। वैक्‍सीनेशन के दौरान पीएम मोदी ने पूछा कि हम कहां से हैं। टीका लगने के बाद उन्‍होंने कहा- लगा भी दी, पता ही नहीं चला।’

पुदुचेरी की सिस्टर पी. निवेदा ने पीएम मोदी को COVAXIN (भारत बायोटेक) वैक्‍सीन की खुराक दी। तस्वीर में सिस्टर निवेदा के अलावा केरल की रहने वाली एक अन्य नर्स रोसम्मा अनिल भी दिख रही हैं। इस मौके पर एम्स निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया भी  मौजूद रहे।

कोविड​​-19 वैक्सीनेशन टीकाकरण के लिए दूसरा चरणके रजिस्ट्रेशन और बुकिंग

कोविड​​-19 वैक्सीनेशन अभियान का दूसरा चरण 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 साल या उससे अधिक आयु के लोगों के लिए आज से शुरू हो गया।

को-विन2.0 पोर्टल पर पंजीकरण सोमवार सुबह नौ बजे शुरू होगा। नागरिक किसी भी समय और कहीं भी टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन और बुकिंग Co-Win 2.0 पोर्टल का उपयोग करके या आरोग्य सेतु जैसे अन्य आईटी एप्लीकेशन के माध्यम से कर सकते हैं।

Read  this : COVID-19:आरोग्य सेतु ऐप

कोविड​​-19 वैक्सीनेशन टीकाकरण के लिए कैसे होगा रजिस्ट्रेशन ?

टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन CoWin पोर्टल पर पहले ही करवाना होगा। टाइम स्लॉट के हिसाब से टीका लगवाने लाभार्थी पहुंचेंगे। आज दोपहर 12:00 बजे से लेकर दोपहर 3:00 बजे तक Cowin पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होंगे जबकि दो मार्च के बाद से सुबह 9:00 बजे से लेकर दोपहर 3:00 बजे तक रजिस्ट्रेशन होंगे।

45 से 59 वर्ष के लोग 20 तरह की पुरानी गंभीर बीमारी का फॉर्म रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर से प्रमाणित कराकर लाएंगे तभी उनको टीका लगेगा। फिलहाल ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा दिल्ली में नहीं दी गई है।

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने मुताबिक, आज से कोई भी व्यक्ति किसी भी केंद्र पर कोरोना का टीका लगवा सकता है। केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों में वैक्सीन की कीमत तय की है। हालांकि, उम्‍मीद की जा रही थी कि कोरोना वायरस की एक खुराक के लिए इससे कहीं ज्‍यादा खर्च करने होंगे।

केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों में तय की वैक्सीन की कीमत

  • वैक्सीन के एक डोज के लिए 250 रुपये लिए जाएंगे
  • जिसमें 150 रुपये टीके और 100 सर्विस चार्ज होगा
  • सरकारी अस्पतालों में मुफ्त मिलेगा टीका


हम सभी जानते ही है कि कोरोना वैक्सीन के मामले में भारत दुनिया के कई देशों की सहायता कर रहा है। खासकर पड़ोसी और गरीब देशों को ‘वैक्सीन मैत्री’ के तहत भारत द्वारा मुफ्त टीके उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

फ़रवरी के मध्य तक भारत ने विश्व समुदाय के लिए 229.7 लाख यानी सवा दो करोड़ से ज्यादा कोरोना टीकों की खुराक की आपूर्ति कर दी थी। इनमें से 64.7 लाख खुराक अनुदान सहायता के तौर पर भेजी गई थी जबकि 165 लाख खुराक की आपूर्ति वाणिज्यिक आधार पर की गई थी।

उम्मीद है कि आज खुद प्रधानमंत्री द्वारा आगे बढ़ कर वैक्सीन (PM Modi Corona Vaccine) लेने से कई विपक्षी दलों के वो नेता इसे लेकर अफवाहें फैलाने से बाज आएँगे, जो भारत में निर्मित कोरोना वैक्‍सीन पर सवाल उठा रहे थे। कई नेताओं ने तो यहां तक कह दिया था कि पहले प्रधानमंत्री मोदी कोरोना वैक्‍सीन लगवाएं, फिर हम लगाएंगे। ऐसे सभी नेताओं को अब पीएम मोदी ने जवाब दे दिया है।

जो लगातार देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों द्वारा प्राप्त की गई उपलब्धि को नीचा दिखाने में लगे थे। इससे पहले वैक्सीन सिर्फ फ्रंटलाइन वर्कर्स को ही दी जा रही थी, लेकिन अब आम नागरिको के लिए भी इसकी व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply