Punjab Muncipal Election : पंजाब में कांग्रेस की बड़ी जीत, अकाली दल और बीजेपी का निराशाजनक प्रदर्शन

Sports News
Punjab Muncipal Election 2021

Punjab Muncipal Election : पंजाब में कांग्रेस की बड़ी जीत, अकाली दल और बीजेपी का प्रदर्शन निराशाजनक
Advertisement


किसान आंदोलन के बीच पंजाब में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस पार्टी एक ऐतिहासिक जीत दर्ज करने की तरफ लगातार बढ़ रही है। शुरुआती नतीजों में कांग्रेस ने भारी बढ़ता बना रखी है।

Punjab Muncipal Election : Major victory of Congress in Punjab, Akali Dal and BJP sweep

वहीं बीजेपी और अकाली दल को इन चुनावों में जोर का झटका लगा है। इस जीत से कांग्रेस का हर नेता तो गदगद है ही, साथ ही कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार में बैठी पार्टियां भी इस जीत से खुश हैं।

बॉलीवुड एक्ट्रेस और शिवसेना नेता उर्मिला मातोंडकर ने कांग्रेस की जीत पर खुशी जाहिर की है। आपको बता दें कि उर्मिला कुछ समय पहले ही कांग्रेस छोड़ शिवसेना में शामिल हुई थीं।

Punjab Muncipal Election 2021

पंजाब स्थानीय निकाय चुनाव के नतीजों को लेकर उर्मिला मातोंडकर ने ट्वीट कर लिखा है, ‘#PunjabMunicipalElection2021 जनादेश एकदम साफ है! #FarmersMakelndia’ अपने इस ट्वीट के जरिए उर्मिला ने बीजेपी की हार को किसान आंदलन से जोड़ा है।

कांग्रेस को 53 साल बाद मिली बठिंडा सीट

बता दें कि पंजाब में 109 नगर निकाय-नगर पंचायत और सात नगर निगम के लिए वोटिंग हुई थी। कांग्रेस ने पंजाब की सात नगर निगम सीट से बीजेपी का सूपड़ा साफ कर दिया है। स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने मोगा, होशियारपुर, कपूरथला, अबोहर, पठानकोट, बटाला और बठिंडा नगर निगम जीत ली है। बता दें कि बठंडा नगर 53 साल के बाद कांग्रेस के खाते में गई है।

कितने उम्मीदवार ?

अबोहर, बठिंडा, बटाला, कपूरथला, मोहाली, होशियारपुर, पठानकोट और मोगा के आठ नगर निगमों के 2302 वार्ड और 109 नगर परिषदों के लिए कुल 9222 उम्मीदवार मैदान में हैं.

Punjab Muncipal Election 2021

राज्य चुनाव आयोग ने मोहाली नगर निगम में दो मतदान केंद्रों पर फिर से मतदान का आदेश दिया था इसलिए इस निगम के लिए मतगणना बृहस्पतिवार को होगी. उम्मीदवारों में 2,832 निर्दलीय, 2307 सत्तारूढ़ कांग्रेस के जबकि 1569 शिरोमणि अकाली दल के हैं. बीजेपी ने 1003, आप ने 1606 और बीजेपी ने 160 उम्मीदवार उतारे हैं. Read this : 

किसान आंदोलन के चलते बीजेपी से अलग हो गई थी अकाली दल

आपको बता दें कि किसान आंदोलन की वजह से पंजाब स्थानीय निकाय चुनाव में बीजेपी को नुकसान होने के संकेत पहले से ही मिल रहे थे। किसान आंदोलन की वजह से बीजेपी के खिलाफ पंजाब में माहौल बनने की वजह से अकाली दल ने भी अपना गठबंधन खत्म कर लिया था। साथ ही हरसिमरत कौर ने केंद्रीय मंत्री के पद से भी इस्तीफा दे दिया था

बता दें कि पंजाब में ऐसे समय में निकाय चुनाव हुए हैं जब करीब पिछले छह महीने से तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. किसान तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. Read this : 

समाचार सौजन्य : abplive और oneindia

Leave a Reply