Rinku Murder Case : रिंकू शर्मा के परिजनों की मदद के लिए लोगों ने जुटाए ₹40 लाख: परिवार से मुलाकात करेंगे Kapil Mishra

Top News
Rinku Murder Case : रिंकू शर्मा के परिजनों की मदद के लिए लोगों ने जुटाए ₹40 लाख: परिवार से मुलाकात करेंगे Kapil Mishra
Rinku Murder Case : रिंकू शर्मा के परिजनों की मदद के लिए लोगों ने जुटाए ₹40 लाख: परिवार से मुलाकात करेंगे Kapil Mishra
Advertisement

Rinku Murder Case: रिंकू शर्मा के परिजनों की मदद के लिए लोगों ने जुटाए ₹40 लाख: परिवार से मुलाकात करेंगे Kapil Mishra

दिल्ली के मंगोलपुरी (Mangolpuri) के 25 वर्षीय रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) की नृशंस हत्या का मामला अब पूरी तरह से सियासी रंग पकड़ने लगा है. भाजपा की ओर से जहां एक विशेष समुदाय के लोगों पर उनकी हत्या करने के बाद दिल्ली सरकार की ओर से एक शब्द शोक संवेदना के नहीं जताने पर लगातार हमला बोला हुआ है.

वहीं,भाजपा (BJP) नेता कपिल मिश्रा (Kapil Sharma) ने सोशल मीडिया पर पीड़ित परिजनों को आर्थिक सहायता देने के लिए ऑनलाइन अभियान शुरू किया है। Read this :तंजीला अनीस ने हिन्दू भावनाओं को आहत किया और रामभक्त रिंकू शर्मा की हत्या का मजाक उड़ाया

भाजपा नेता वैशाली पोद्दार (Vaishali Poddar) की ओर से तैयार किए गए फंडरेजिंग कैंपेन की बैकबोन के रूप में कपिल मिश्रा ने पूरा मोर्चा संभाला हुआ है

इसके जरिए खबर लिखे जाने तक 40 लाख रुपए से ज्यादा की राशि जुटाए गए थे। वहीं, फंडरेजिंग का सिलसिला अभी भी जारी है क्राउडकैश नामक वेबसाइट और फिल्म निर्माता मनीष मुंद्रा द्वारा दी गई 5 लाख की रकम को मिला कर इतनी धनराशि आई है। इस रकम को पीड़ित परिवार के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

मनीष मुंद्रा ने यहाँ तक वादा किया है कि अगर जनता कुल मिला कर 90 लाख रुपए जुटा देती है तो फिर वो इसमें 10 लाख जोड़ कर इसे 1 करोड़ रुपए कर देंगे। कपिल मिश्रा ने भी इसके लिए 1 करोड़ की धनराशि जुटाने का लक्ष्य रखा है।

Rinku Murder Case: कपिल मिश्रा ने संकल्प जताया कि हम न तो परिवार को अकेला पड़ने देंगे और न ही कमजोर। उन्होंने ये भी कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मदद तो दूर, अब तक संवेदना के एक शब्द तक नहीं कहे हैं।

दिल्ली के पूर्व मंत्री मिश्रा ने ऐलान किया कि वे सोमवार (फरवरी 14, 2021) को पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि रिंकू शर्मा अपने घर में अकेला कमाने वाले थे, जिन्होंने हमारे लिए अपने जीवन को बलिदान कर दिया।

फ़िलहाल हैदराबाद में जनसम्पर्क कर रहे कपिल मिश्रा दिल्ली लौटने के बाद पीड़ित परिवार से मिलेंगे। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उनका दर्द जाना था।

कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधते हुए कहा कि वह सिर्फ एक वर्ग विशेष या खास नाम के लिए ही 1 करोड़ रुपए की मदद देते हैं. खास नाम के लिये इस तरह की मदद को वह दिल्ली ही नहीं बल्कि दादरी और हैदराबाद तक पहुंच जाते हैं. Read this :Rinku Sharma Murder Case:जिसकी गर्भवती पत्नी को 2 बार दिया खून, उसने रिंकू शर्मा को मारा चाकू

Rinku Murder Case: रिंकू शर्मा की हत्या करने के बाद इसको लेकर चढ़ा सियासी पारा ट्विटर पर पूरी तरीके से ट्रेंडिंग कर रहा है.

रिंकू शर्मा को लेकर ट्विटर पर #JusticeForRinkuSharma, #JusticeForRinku, #रिंकू शर्मा, आदि सभी Political Trending में खूब चल रहे हैं

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) व किसी मंत्री, विधायक की ओर से इस घटना को लेकर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है.

kreately.in में छपी एक खबर के अनुसार : रिंकू शर्मा Rinku के भाई मनु शर्मा मंगोलपुरी के ही तकरीबन 50 स्थानीय लोगों के साथ सुबह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) से मिलने उनके निवास स्थान सिविल लाइन पहुंचे

मगर केजरीवाल ने पहले उन्हें अपने दरवाजे पर तकरीबन 1 घंटे इंतजार करवाया और फिर उसके बाद अपने सिपहसालारों से यह कहकर वापस लौटा दिया कि मुख्यमंत्री जी को इस मुद्दे की जानकारी नहीं है इसलिए वह अभी इस पर बात नहीं करेंगे।

kreately.in में आगे लिखा है की देश और दिल्ली दोनों देख रहे हैं जिस तरह से अरविंद केजरीवाल ने रिंकू शर्मा के भाई से मिलने से मना कर दिया वहीं दूसरी तरफ अगर कोई ‘रिहान’ या ‘उस्मान’ होता तो केजरीवाल पहले स्वयं उसके घर जाते और उसके परिजनों को अपने घर बुलाकर तस्वीर भी खिंचवाते।

यह वही केजरीवाल है जो निर्भया रेप केस के आरोपी को सिलाई मशीन बांटते हैं , जामिया दंगों में घायल छात्रों से मिलने उनके घर जाते हैं मगर बेदर्दी से कत्ल किए गए रिंकू शर्मा के भाई को अपने दरवाजे से बिना मिले ही लौटा देते हैं।

विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने परिजनों से मिलने के बाद कहा कि पिछले कुछ समय से मुस्लिम समाज में आक्रामकता बढ़ रही है। उन्होंने कहा, “बात-बात पर हमले भी बढ़ रहे हैं। इस्लामिक जिहादी खुलेआम हिंदुओं की मॉब लिंचिंग कर रहे हैं।

इन सबके बावजूद पुलिस-प्रशासन व देश की सेक्युलर बिरादरी मूकदर्शक बनी हुई है। दुर्भाग्य से पुलिस-प्रशासन द्वारा अपनी नाकामी को छुपाने हेतु नई-नई कहानियाँ गढ़ी जा रही हैं। स्थानीय पुलिस ने यदि समय पर कार्यवाही की होती तो रिंकू आज अपने परिजनों के बीच होता।” Read this : बजरंग दल कार्यकर्ता रिंकू शर्मा के पीठ में चाकू घोंप हत्या, 4 आरोपित गिरफ्तार


मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी कहा जा रहा है कि हमलावर रिंकू शर्मा को परिवार सहित जिंदा जलाने की फिराक में थे। रिंकू शर्मा की माँ राधा ने भी इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि हमलावरों ने किचन से गैस सिलिंडर निकाल लिया था और उसमें आग लगाने की कोशिश की थी,

ताकि पूरे घर को जलाया जा सके और आग में झुलस कर पूरे परिवार की मौत हो जाए। वो गैस सिलिंडर में आग लगाने ही जा रहे थे, तभी रिंकू की माँ ने अपने बेटों के साथ मिल कर किसी तरह आरोपितों से सिलिंडर छीन लिया

Leave a Reply