Room Air Fresheners |room air freshener benefits and side effects | क्या एयर फ्रेशनर सुरक्षित है

हेल्थ
Air fresheners
Air fresheners, room Air fresheners

Room Air Fresheners |room air freshener benefits and side effects | क्या एयर फ्रेशनर सुरक्षित है

Advertisement

Room Air Fresheners : हम सभी को अच्छी खुशबू में रहना व काम करना पसंद है। और कारों में. आज इन प्रोडक्ट्स का दुनिया भर में बहुत बड़ा मार्केट है.खुशबू से भरा माहौल सभी को भाता है। वर्तमान में लोग खुशबू को हमेशा बरकरार रखेने के लिये एयर फ्रेशनर (Room Air Fresheners) आदि का प्रयोग करते हैं।

एयर फ्रेशनर प्रोडक्ट्स हम हर जगह इस्तेमाल कर रहे हैं 2003 – 04 में इनकी बाजार में मांग दुगनी हो गयी, उपभोक्ताओं ने पुराने पारम्परिक तरीको जैसे अगरबत्ती, कैंडल, आदि को छोड़ कर एयर फ्रेशनर प्रोडक्ट्स पर अपना भरोसा जताया है. क्या आप जानते है की ये आपके स्वास्थ के लिए कितने सुरक्षित है, दुनिया के कई देशो में इन प्रोडक्ट्स पर अध्यन किया जा रहा है

हालांकि रूम एयर फ्रेशनर्स का उपयोग (Room Air Fresheners) तब ज्यादा किया जाने लगा जब वातावरण के प्रदूषित होने से हमारे आस पास कई तरह की अरूचिकर गंध फैली हुई रहने लगी, जिसके कारण कभी-कभी सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है।1948 की दशक में कुछ लोगों ने इस समस्या का हल एयर फ्रेशनर (पहला आधुनिक एयर फ्रेशनर) के रूप में निकला।

हालांकि उस समय ये कीटनाशकों के फैलने वाली एक सैन्य तकनीक पर आधारित था और इसमें क्लोरोफ्लोरोकार्बन (chlorofluorocarbon) प्रणोदक का उपयोग करके एक दबाव वाले स्प्रे के रूप में बनाया गया था। इसमें मौजूद सुगंधित यौगिकों की गंध लंबे समय तक हवा में बनी रहती थी।

इस प्रकार एयर फ्रेशनर की बिक्री में भारी वृद्धि होनी शुरू हो गई। 1950 के दशक में, कई कंपनियों ने इसका उत्पादन करना प्रारंभ किया और समय के साथ साथ इसमें कई परिवर्तन भी किये गए। आज हम दुर्गंध को हटा कर और अपनी मन चाही खुशबू को हवा में फैला सकतें हैं, जिन्हें प्राय: एयर फ्रेशनर (Air Freshener) के नाम से जाना जाता हैं ।

अनेक पर्यावरण समूह बार-बार कई प्रकार के एयर फ्रेशनरों का उपयोग करने के खिलाफ चेतावनी देते हैं, इनमे उपयोग होने वाले रसायनों से प्रजनन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं खासकर शिशुओं विकास के लिए ये हानिकारक है इसके साथ-साथ ही ये प्रकृति और हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरा हो सकते है, किन्तु इस उद्योग से जुड़े प्रतिनिधियों का मानना है।कि एयर फ्रेशनर से कोई जोखिम नहीं होता हैं।

एयर फ्रेशनर का समाधान

हर कोई चाहता है कि उसका घर खुशबू से महकता रहे। परंतु आप भी नहीं चाहेंगे कि बाजार से खरीदे गये एयर फ्रेशनर के रसायन से आपके घर में बीमारियां पैदा हो, यदि आप चाहे तो प्राकृतिक तरीकों से भी एयर फ्रेशनर बना सकते है। आप आवश्यक तेलों, जड़ी बूटियों, फूलों जैसे प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करके, अपने घर पर ही प्राकृतिक एयर फ्रेशनर बना सकते हैं।

  • आप इसके समाधान के लिए अपने घर, ऑफिस, और बाथरूम में इलेक्ट्रिक एरोमा आयल डिफ्यूजर का उपयोग कर सकते है यह इस्तेमाल करने में बहुत ही आसान होते है और इनमे नेचुरल एसेंशियल आयल उपयोग होने के कारण स्वास्थ के लिए हानिकारक भी नहीं होते है, यह बच्चों और पालतू जानवरों के लिए सुरक्षित है।

 

  • डिफ्यूजर का ऑटो बंद फ़ंक्शन से आपको इसे उपयोग करने में आसान बनता है, बस डिफ्यूज़र में बने पानी की टंकी में अपने पसंदीदा नेचुरल एसेंशियल आयल की कुछ बूँदें डाले और उन्नत अल्ट्रासोनिक वाष्पीकरण प्रसार तकनीक से यह आपके घर को सुगंधित कर देता है, इसे प्रतिदिन अपनी पसंद की खुसबू के अनुसार बदला जा सकता है।

एयर फ्रेशनर के उपभोक्ताओं और व्यापार मालिकों दोनों के लिए कई लाभ हैं, एक अच्छी खुशबू उपभोक्ताओं को वहाँ अधिक समय बिताने के लिए राजी करती है और ग्राहकों पर किये गए एक अध्यन के अनुसार यह ऐसे स्थानों पर दुबारा जाना पसंद करते है।

incense stick
incense stick, Air fresheners

आप डिफ्यूजर तथा नेचुरल एसेंशियल आयल ऑनलाइन उपयोग कर सकते है.

  • एयर फ्रेशनर में थेलेट्स एस्टर उपस्थित होता है, जोकि एलर्जी और विषाक्त वायु प्रदूषक उत्सर्जित करता है। ये हमारी सांस के माध्यम से शरीर में अवशोषित हो जाते है और हमें नुकसान पहुचाते है। ये कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का कारण भी बनता है।
  • कुछ एयर फ्रेशनर जो जैविक नहीं होते, वे रसायनों से युक्त होते है। जो हमारे अंदर जाकर फेफड़ों, गुर्दों और शरीर के अन्य नाजुक भागों को प्रभावित करते है। और इन रसायनों के प्रयोग से एलर्जी, अस्थमा, कैंसर, फेफड़ों की गंभीर बीमारी, और ट्यूमर जैसी बीमारियां हो सकती है।
  • इसके सुगंध के लिये आमतौर पर इथेनॉल, फॉर्मल्डेहाइड, फेनॉल, अल्कोहल आदि मिलाए जाते है जोकि हमारे लिये हानिकारक होते है। क्योंकि ये विषैले पदार्थ होते है और तरह तरह की गंभीर समस्याएं और हॉर्मोन्स (Hormones) को असंतुलित करते है।
  • कुछ में तो कैंसरजनक पदार्थ भी शामिल होते है। हालांकि इस रसायनों की मात्रा एयर फ्रेशनर में कम होती है, परंतु इनका ज्यादा इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है। हालांकि इथेनॉल जैसे रसायन कीटाणुनाशकों का कार्य करते है। ये वातावरण में मौजूद पैथोजनस् और सूक्ष्म जीवाणुओं को नष्ट कर देता है, परंतु फिर भी इनका ज्यादा इस्तेमाल हानिकारक है।

Leave a Reply