good for health to completely give up salt sugar and oil | stop eating sugar salt and oil completely

हेल्थ
stop eating sugar salt and oil completely
stop eating sugar salt and oil completely

good for health to completely give up salt sugar and oil | stop eating sugar salt and oil completely | सेहतमंद रहना है तो कम करें नमक, चीनी और तेल 

give up salt sugar and oil : जब हम कही आते जाते है और हमें कोई गोलगप्पे की शॉप दिखे या कही नूडल्स बनते दिख जाये तो पैर अपने आप उस और मुड़ जाते है। पर एक बात कहुगी की अपने पैर और जीभ दोनों को कंट्रोल करे और जंक फूड मत खाइए, क्योंकि उसमें नमक (Salt)

Advertisement
है। केचप, कोल्ड ड्रिंक और चाय के साथ आने वाली चीनी (Sugar) भी सेहत के लिए अच्छी नहीं है।

यह भी पढ़ें:  why rock salt is eaten during fasting

डायबिटीज (Diabetes) से लेकर हाई बीपी (High BP)बढ़ते कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) तक सभी के लिए चीनी, तेल और नमक को ही दोषी माना जाता है। इसका ये मतलब नहीं की हम फीका खाना (Quit salt and sugar) खाये। लेकिन हेल्दी रहना है तो हमें इन चीजों को कम करना होगा तो आइये जानते है हमारी सेहत और चीनी-नमक का कनैक्शन (Salt and sugar intake for health) और हमें एक दिन में कितनी मात्रा में नमक चीनी और तेल खाना चाहिए

यह भी पढ़ें:  What is Diabetes in hindi | How many types of diabetes are there

अगर आप अपने रोजाना के खाने में सिर्फ नमक, चीनी और तेल कम कर दें तो लाइफस्टाइल से जुड़ी बहुत सी बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है क्युकी ज्यादा तेल,नमक और चीनी का उपयोग भारत में दिल, किडनी और डायबीटीज के रोगों की राजधानी बनता जा रहा है।

stop eating sugar salt and oil completely

भारत में इस समय करीब 7 से 8 करोड़ लोग डायबीटीज की चपेट में हैं। बदलती लाइफस्टाइल, खानपान और एक्सर्साइज की कमी इस समस्या को बढ़ा रही है। अगर खाने में नमक, तेल, चीनी की मात्रा कम रखी जाए तो मोटापा, हाई बीपी, डायबीटीज, दिल के रोगों से दूर रहा जा सकता है।

सेहतमंद रहना है तो कम करें नमक, चीनी और तेल 

खाद्य पदार्थ, नूडल्स, पनीर, नमकीन स्नैक्स, चिप्स, संसाधित मांस जैसे बेकन, हैम, सलामी आदि या अचार, जैम, जेली, सॉस के माध्यम से भी हमें नमक (Salt) मिलता है। इसी प्रकार ग्रेवी, सोडा, शेक, केंद्रित फलों के रस, कैंडीज, मीठे स्नैक्स, केचप, कोल्ड ड्रिंक आदि में चीनी मिलाई जाती है।

और चाय के साथ आने वाली चीनी (Sugar)भी सेहत के लिए अच्छी नहीं है। तो देखा जाए तो चीनी, तेल और नमक के मामले में बहुत कम या बहुत अधिक दोनों ही स्थिति खतरनाक हैं। डायबिटीज (Diabetes)से लेकर हाई बीपी (High BP)बढ़ते कोलेस्ट्रॉल (cholesterol)तक सभी के लिए चीनी, तेल और नमक को ही दोषी माना जाता है।

इसका ये मतलब नहीं की हम फीका खाना (Quit salt and sugar) खाये। लेकिन हेल्दी रहना है तो हमें इन चीजों को कम करना होगा तो आइये जानते है हमारी सेहत और चीनी-नमक का कनैक्शन (Salt and sugar intake for health) और हमें एक दिन में कितनी मात्रा में नमक चीनी और तेल खाना चाहिए

चीनी और नमक की भूमिका (Salt and sugar for health)

शरीर स्वस्थ ढंग से काम करे, इसके लिए नमक और चीनी दोनों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। नमक एक ऐसा खनिज पदार्थ है, जो द्रव के स्तर और एसिड बेस बैलेंस को बनाए रखने, तंत्रिका आवेगों को संचालित करने और मांसपेशियों के संकुचन को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक है। वहीं, चीनी कार्बोहाइड्रेट का एक रूप है और हमारे दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के लिए ऊर्जा का एक बहुत अच्छा स्रोत है।

इसमें कोई शक नहीं कि अधिक नमक और अधिक चीनी का सेवन स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। लेकिन, अपने आहार में नमक और चीनी की अनुशंसित मात्रा को शामिल करना ठीक है।

stop eating sugar salt and oil completely
stop eating sugar salt and oil completely

कितना नमक है जरूरी (Salt and sugar intake for health)

स्वस्थ वयस्कों के लिए नमक की मात्रा प्रतिदिन 5 ग्राम (1 चम्मच) से कम है। 2 से 15 वर्ष के बच्चों के लिए नमक की आवश्यकता वयस्कों की तुलना में कम होती है और यह उनकी ऊर्जा आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। कुल कैलोरी का 5-10 प्रतिशत ऊपर से मिलाई जाने वाली चीनी के सेवन की सलाह दी जा सकती है।

क्या नमक चीनी और तेल सेहत के दुश्मन हैं ? कितनी मात्रा में नमक चीनी और तेल खाना चाहिए

  • चीनी 1 दिन में 6-8 चम्मच और तेल 4 चम्मच से ज्यादा नहीं खाना चाहिए, लेकिन भारत में ज्यादातर लोग इस मात्रा से कहीं ज्यादा इनका प्रयोग करते हैं।
  • नमक के सेवन से संबंधित अपने खाने की आदतों को कहां और कैसे ठीक करना चाहिए।
  • नमक और चीनी के सेवन को कंट्रोल करने के लिए यहां 9 सुझाव दिए गए हैं- :
  • डाइनिंग टेबल पर टेबल सॉल्ट और सॉल्ट शेकर्स के इस्तेमाल से बचें।उत्पाद खरीदने से पहले खाद्य लेबल देखें, पढ़ें और उनका विश्लेषण करें।
  • नमकीन स्नैक्स का सेवन सीमित करें।
  • खाने के लिए तैयार खाद्य पदार्थों के बजाय घर का बना खाना पसंद करें।
  • अपने आहार में प्रसंस्कृत और परिरक्षकों से भरे खाद्य पदार्थों को सीमित करें।
  • पेय पदार्थों और अन्य खाद्य पदार्थों में ऊपर से चीनी मिलाने से बचें। बल्कि अपनी चीनी खाने की लालसा को पूरा करने के लिए फल खाना पसंद करें।
  • परिष्कृत सफेद चीनी से बचें और इसके स्वस्थ विकल्प जैसे कि किशमिश, अंजीर, मुनक्का, जैविक गुड़, शहद, नारियल चीनी आदि को अपनाएं।
  • ‘शुगर क्रेविंग’से बचने के लिए कम-कम मात्रा में कई बार भोजन करें।

गर्भवती और स्तनपान करवाने वाली महिलाएं ध्यान दें

डब्ल्यूएचओ ने सभी व्यक्तियों के साथ-साथ गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए नमक और चीनी की सिफारिश की है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान यदि आप जीडीएम (गर्भावधि मधुमेह) या पीआईएच (गर्भावस्था प्रेरित उच्च रक्तचाप) जैसी उच्च जोखिम वाली परेशानी में हैं तो आपकी जरूरतें बदल जाएंगी। जैसा कि मधुमेह में साधारण चीनी के सेवन की सलाह नहीं है। इसी तरह उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए नमक का सेवन कम से कम (डीएएसएच आहार) होना चाहिए।

इसलिए अपने आहार से नमक और चीनी को पूरी तरह से समाप्त करने के बदले अच्छी सेहत के लिए इसे निर्धारित मात्रा में शामिल करने की सलाह दी जाती है। इस तरह आप अपने भोजन का आनंद ले सकती हैं। हम सभी जानते हैं कि नमक और चीनी भोजन का स्वाद बढ़ाते हैं। यदि आप अपने भोजन का स्वाद लेंगे

अंत में आप सभी को मेरी यही सलाह है कि अपनी दिनचर्या में थोड़ा नमक, थोड़ी चीनी, थोड़ा मसाला, थोड़ा तेल, पौष्टिक भोजन, व्यायाम और अच्छी नींद को शामिल करके अपने स्वास्थ्य को संतुलित करें। और कोई भी बड़ा आहार परिवर्तन करने से पहले, आप एक योग्य आहार विशेषज्ञ से परामर्श जरूर लें।

Leave a Reply