Twitter Sold To Elon musk Confirms The Company | 44 Billion Dolar Mein Bik Gaya Twitter | Elan mask ne Tweet Kar Kee Pushti |

Top News
Twitter Sold To Elon musk Confirms The Company | 44 Biliyan Dolar Mein Bik Gaya Twitter | Elan mask ne Tweet Kar Kee Pushti |
Twitter Sold To Elon musk Confirms The Company
Advertisement

Twitter Sold To Elon musk Confirms The Company | 44 Biliyan Dolar Mein Bik Gaya Twitter | Elan mask ne Tweet Kar Kee Pushti | 44 बिलियन डॉलर में बिक गया ट्विटर, एलन मस्क ने ट्वीट कर की पुष्टि


Twitter Sold : कई दिनों की उठापटक के बाद आखिरकार ट्विटर (Twitter) को दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति टेस्ला कंपनी के मालिक एलन मस्क (Elon musk) ने ट्विटर को 44 बिलियन डॉलर में खरीद लिया है। ट्विटर ने इस बात की सोमवार को पुष्टि कर दी है।और खुद एलन मस्क ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है।

कंपनी की ओर से कहा गया है कि डील के अनुसार कंपनी के शेयर धारकों को 54.20 अमेरिकी डॉलर प्रति शेयर के बदले दिए जाएंगे।

 साथ ही साल 2013 से पब्लिक चल रही कंपनी अब प्राइवेट हो गई । ट्विटर (Twitter) के बिकने के बाद ही कंपनी के CEO पराग अग्रवाल (Parag Agrawal) की विदाई की अटकलें भी लगाई जा रही हैं. लेकिन इसको लेकर कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है. 

इस ऐलान के बाद एलन मस्क (Elon musk) ने कहा कि लोकतंत्र को चलाने के लिए फ्री स्पीच उसका आधार है, ट्विटर डिजिटल शहर है जहां मानवता के भविष्य की चर्चा होती है। मैं ट्विटर को पहले से कहीं बेहतर बनाना चाहता हूं, इसमे नए फीचर लाकर, लोगों में भरोसा बढ़ाने के लिए इसके एलगोरिदम को लोगों के सामने रखा जाएगा।

ट्विटर (Twitter) में जबरदस्त क्षमता है, मैं कंपनी के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हूं। मस्क ने एक और ट्वीट करके लिखा, कि मेरे सबसे बुरे आलोचक भी ट्विटर पर रहें क्योंकि इसी का नाम अभिव्यक्ति की आजादी है।

44 बिलियन डॉलर कैश में डील

बता दें कि एलन मस्क (Elon musk) ने ट्विटर को 44 बिलियन डॉलर में कैश में खरीदने का प्रस्ताव कंपनी को दिया था, जिसे कंपनी ने आखिरकार स्वीकार कर लिया और अब ट्विटर पर मालिकाना हक एलन मस्क का हो गया। 16 साल की इस कंपनी को इतिहास की सबसे बड़ी डील के तहत खरीदा गया है।

पिछले कई दिनों से फ्री स्पीच को लेकर चल रही बहस के बीच एलन मस्क को ट्विटर खरीदने में आखिर बड़ी सफलता मिली है। कंपनी हर शेयर धारक को एक शेयर के बदले 54.2 डॉलर देगी, जोकि 1 अप्रैल को कंपनी के शेयर के मौजूदा दाम से 38 फीसदी अधिक है। गौर करने वाली बात है कि कंपनी में एलन मस्क एक बड़े शेयर धारक थे।

अब तक की सबसे बड़ी डील यह

बिजनेस के इतिहास की सबसे बड़ी डील है, जिसे 44 बिलियन डॉलर नगद में पूरा गया है, यानि कंपनी को 100 फीसदी कैश पैसों से खरीदा गया है। इस डील को इस साल के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। मस्क
(Elon musk) ने पहले ही कहा था कि उन्होंने 25.5 बिलियन डॉलर को पहले ही इसके लिए सुरक्षित रख लिया है, बाकी के 21 बिलियन डॉलर वह इक्विटी फंड के जरिए इकट्ठा करेंगे।

खुलकर कंपनी के खिलाफ बोल रहे थे मस्क

बता दें कि एलन मस्क ट्विटर पर काफी सक्रिय रहते हैं और उनके ट्विटर (Twitter) पर 83 मिलियन फॉलोवर हैं, कंपनी में एलन मस्क के 9 फीसदी शेयर हैं। मार्च माह में मस्क ने ट्विटर की आलोचना शुरू की और कंपनी पर कई गंभीर आरोप लगाए। कंपनी के एल्गोरिदम और भेदभावपूर्ण फीड्स की आलोचना की।

उन्होंने 14 अप्रैल को कंपनी की बोर्ड मीटिंग में हिस्सा लेने से भी इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा था कि वह कंपनी की पूरी तरह से अभिव्यक्ति की आजादी का मंच बनाएंगे, उस वक्त ही उन्होंने कंपनी को खरीदने के संकेत दे दिए थे।

twitter CEO Parag Agarwal will get 42 million dollar if sacked
twitter CEO Parag Agarwal will get 42 million dollar if sacked

twitter CEO Parag Agarwal will get 42 million dollar if sacked | 42 मिलियन डॉलर मिलेंगे पराग अग्रवाल को

एक अनुमान के मुताबिक अगर मस्क कंपनी के सीईओ को निकालते हैं तो उन्हें पराग अग्रवाल को 42 मिलियन डलर की राशि का भुगतान करना पड़ेगा। हालांकि ट्विटर की ओर से इस बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। पराग अग्रवाल कंपनी में पहले चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर थे, इसके बाद पिछले साल नवंबर माह में उन्हें कंपनी का सीईओ बनाया गया। 2021 में उनके हर्जाने की कुल कीमत 30.4 मिलियन डॉलर थी।

क्यों हो रही Parag Agrawal की विदाई की चर्चा?

ट्विटर बायआउट ने अग्रवाल (Parag Agrawal) के भविष्य पर संदेह जताया है, और यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि क्या वह शीर्ष पर बने रहना चाहेंगे, मस्क अब मंच के शीर्ष पर हैं. मस्क पहले ही कह चुके हैं कि उन्हें ट्विटर के प्रबंधन पर भरोसा नहीं है. टेस्ला के सीईओ को मंच बेचने का निर्णय यह भी संकेत देता है कि बोर्ड किसी तरह अग्रवाल (Parag Agrawal) की क्षमताओं में आश्वस्त नहीं है, जिन्होंने नवंबर 2021 में जैक डोरसी (Jack Dorsey) से पदभार संभाला था, क्योंकि कंपनी पर्याप्त लाभ नहीं कमा रही है.

नवंबर में ही बने थे ट्विटर के CEO

पराग अग्रवाल (Parag Agrawal) पहले ट्विटर (Twitter) के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर थे, पिछले साल नवंबर में ही उनको ट्विटर का CEO बनाया था. ट्विटर प्रॉक्सी के मुताबिक, साल 2021 के लिए उनका कुल कंपनसेशन 3.04 करोड़ डॉलर था, जिसमें ज्यादातर स्टॉक अवॉर्ड के रूप में मिला था.

Leave a Reply