Uttarakhand film Maati Pehchaan | the second teaser of uttarakhandi film maati pehchan | daughter of the hills released in hindi and kumaoni | उत्तराखंडी फिल्म माटी पहचान

movie
Uttarakhand film Maati Pehchaan
Uttarakhand film Maati Pehchaan

Uttarakhand film Maati Pehchaan | the second teaser of uttarakhandi film maati pehchan | daughter of the hills released in hindi and kumaoni | उत्तराखंडी फिल्म माटी पहचान पलायन
Advertisement
,शिक्षा व महिला सशक्तीकरण का संदेश देती है 

Maati Pehchaan : बॉलीवुड स्टाइल में बनाई गई उत्तराखंडी फिल्म “माटी पहचान”(Uttarakhand film Maati Pehchaan) का दर्शकों को भी बडी बेसब्री से इंतजार था। वह इंतजार अब खत्म होने जा रहा है।बता दे कि फिल्म 23 सितंबर 2022 को उत्तराखंड समेत दिल्ली एनसीआर, मुंबई और लखनऊ के सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है।

यह भी पढ़े : migrating to Uttarakhand : उत्तराखंड मे पलायन क्यों हुआ इसका जिम्मेदार कौन है और इसको कैसे रोका जा सकता है

फॉर्च्यून टॉकीज मोशन पिक्चर्स की ओर से बनाई जाने वाली इस फिल्म में उत्तराखंड से होने वाले पलायन का दर्द उजागर किया गया है।

इसके साथ ही इस फिल्म मे एक छोटे से गांव की पहचान, समुदाय, भाषा और प्रेम के जटिल मुद्दों को उठाया गया है। फिल्म मे दिखाया गया है की, उत्तराखंड में दो तरह के लोग रहते हैं एक वो जो अपनी जरुरतों व महत्वाकांक्षाओं के लिए अपने गांव जमीन को छोड़ देते हैं और दूसरा वो जो यहीं रहकर यहां के संघर्ष को अपनाते हैं।

Maati Pehchaan फिल्म के अभी तक तीन टीजर जारी हो चुके हैं। बताते चले कि हर टीजर को हिंदी और कुमाऊंनी भाषा में जारी किया है। कुमाऊंनी भाषा में बनी इस फिल्म मे ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है, जो आसानी से सभी को समझ आ सकते है। इस फिल्म को जनता का अधिक प्यार मिला तो इसे गढ़वाली भाषा में भी डब किया जा सकता है।

यह भी पढ़े :  हरतालिका : कूर्माचल के सामवेदी ब्राह्मणों का ‘उपाकर्म’

माटी पहचान (Maati Pehchaan) का मुख्य विषय व्यक्तिगत लाभ के लिए अपनी जमीन को छोड़ने के बजाय अपनी जड़ों से जुड़े रहना है। यह फिल्म ऐसे समय में आ रही है जब पहाड़ में पलायन गंभीर चुनौती बनता जा रहा है। Maati Pehchaanफिल्म न सिर्फ पहाड़ों की कहानी है बल्कि यह अपने खोए हुए बच्चों को घर वापस बुलाती है।

Uttarakhand film Maati Pehchaan
Uttarakhand film Maati Pehchaan

फिल्म निर्माता फराज शेर और अजय बेरी के निर्देशन मे बनाई गई इस फिल्म में सभी कलाकार उत्तराखंड के हैं। इस फिल्म की शूटिंग उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों में हुई है। वही निर्माता फराज शेर का कहना है कि ये फिल्म उत्तराखंडी सिनेमा को बहुत ऊंचे आयाम पर पहुंचाने काम करेगी।

उन्होंने उत्तराखंड की जनता से इस फिल्म को देखने का आग्रह किया है।फिल्म में उत्तराखंड के अभिनेता करण गोस्वामी और अभिनेत्री अंकिता परिहार फिल्म को लेकर काफी उत्साहित हैं।

फिल्म मे काम कर रही अभिनेत्री अंकिता का कहना है कि यह उनकी पहली फिल्म है और उन्हें इस बात की खुशी है कि ये उनकी मातृभाषा में बनी है। इसके साथ ही करन गोस्वामी कहते है कि वो मुंबई में संघर्ष कर रहे थे लेकिन जैसे ही उन्हें उत्तराखंडी फिल्म (Maati Pehchaan) में काम करने का मौका मिला उन्होंने इस अवसर को हाथ से नही जाने दिया । फिल्म में हल्द्वानी के कलाकार आकाश नेगी ने भी महत्वपूर्ण किरदार निभाया है।माटी पछ्यांण (Maati Pehchaan) बॉलीवुड फिल्म को टक्कर देने वाली फिल्म है।

यह फिल्म अपनी बोली भाषा और संस्कृति को विश्व पटल पर प्रदर्शित करने का सबसे सशक्त माध्यम है। फिल्म हिंदी के अलावा कुछ हद तक कुमाऊंनी डायलॉग के साथ है। फिल्म की शूटिंग कोटाबाग, भीमताल, रामनगर आदि इलाकों में हुई है।

Leave a Reply