Vivek Ranjan Agnihotri Biography in Hindi, Age, Education, Career, Films | विवेक अग्निहोत्री की जिंदगी और लव लाइफ

हेल्थ
Vivek Ranjan Agnihotri Biography in Hindi, Age, Education, Career, Films
Vivek Ranjan Agnihotri Biography in Hindi, Age, Education, Career, Films

Vivek Ranjan Agnihotri Biography in Hindi, Age, Education, Career, Films विवेक अग्निहोत्री जीवन परिचय और लव लाइफ 

Vivek Ranjan Agnihotri : विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड बना रही है, ये 11 मार्च 2022 को थियेटर्स में रिलीज हुई थी। फ‍िल्म को काफी अच्छे रिव्यूज मिल रहे हैं. हर कोई Vivek Agnihotri के निर्देशन में बनी इस फ‍िल्म की खूब तारीफ कर रहा है.

Advertisement

यह भी पढ़े : The Kashmir Files Review | कश्मीरी-हिंदुओं के दर्द के रिसते घावों के पन्ने

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी यह फ‍िल्म पसंद आई है. उन्होंने फ‍िल्म की टीम से मुलाकात की और उन्हें इसकी बधाई भी दी. वहीं कंगना रनौत ने भी अपने अंदाज में फिल्म को लेकर बड़ी बात कही है.इस फिल्म में अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती और दर्शन कुमार जैसे कलाकार हैं। इसमें कश्मीरी पंडितों के साथ हुई हैवानियत को दिखाया गया है।

‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) के लिए हर तरफ तारीफों के पुल बंध रहे हैं। कम बजट और बिना किसी बड़े बॉलिवुड स्टार के बनी इस मूवी को देखने के बाद लोगों की आंखें नम हो जा रही हैं। कई राज्यों की सरकारों ने इसे टैक्स-फ्री (The Kashmir Files Tax free) कर दिया है।

इस बीच जिसका सबसे ज्यादा नाम हो रहा है, वो हैं इस फिल्म के मेकर विवेक रंजन अग्निहोत्री (Vivek Ranjan Agnihotri)। आज भले ही उनके नाम का डंका बज रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि उन्होंने अपने काम की शुरुआत विज्ञापनों में काम करने से की थी। इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया, आइये आपको विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri controversy)की जिंदगी से रूबरू कराते हैं।

विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri controversy) कौन है जिन्होंने द कश्मीर फाइल्स बनाई

विवेक अग्निहोत्री का जन्म जन्म 21 दिसंबर 1973 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर की जवाहर कॉलोनी में हुआ। ग्वालियर की मिट्टी में खेले-कूदे और पले-बड़े विवेक ने बीएसएसएस (bsss) से ग्रेजुएशन पूरा किया और इसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए इंडियन इंस्टिट्यूट आफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली चले गए।

जहां से उन्होंने एडवरटाइजिंग में अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाया। इसके साथ ही विवेक ने हार्वर्ड एक्सटेंशन स्कूल से सर्टिफिकेट आफ स्पेशल स्टडीज (मैनेजमेंट) की पढ़ाई की है। और आज विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri) एक फिल्म डायरेक्टर, स्क्रीनराइटर, ऑथर और एक्टिविस्ट हैं।

हालांकि विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri controversy) ने अपने करियर की शुरुआत एक विज्ञापन एजेंसी से की थी। इसके बाद उन्होंने 1994 में कुछ टीवी सीरियल्स को भी डायरेक्ट किया और उसमें सफल भी हुए। धीरे-धीरे विवेक का नाम चलने लगा और साल 2005 में उन्होंने बॉलीवुड फिल्मों में भी काम करना शुरू कर दिया।जिनमे थ्रिलर, स्पोर्ट्स, राजनितिक ड्रामा , रोमांटिक ड्रामा फिल्में शामिल हैं। विवेक ने हिंदी सिनेमा में डेब्यू बतौर निर्देशक वर्ष 2005 में फिल्म चॉकलेट से किया था। 

हालांकि, ये बॉक्स ऑफिस पर सक्सेसफुल नहीं हो पाई। लेकिन इसके बाद 2007 में धन धना धन गोल फिल्म को डायरेक्ट किया। इस फिल्म के बाद विवेक का काम नजर आने लगा था। इसके बाद उन्हें हेट स्टोरी के डायरेक्ट किया। बुद्धा इन अ ट्रैफिक जाम, जिद, द ताशकंत फाइल्स आदि का भी निर्माण किया।

विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri controversy) को The Tashkent Files (2019) में बेस्ट स्क्रीनप्ले डायलॉग्स के लिए नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। विवेक अग्निहोत्री 2019 में केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के पैनल के सदस्य हैं।

विवेक अग्निहोत्री के पिता कौन हैं

विवेक के पिता डा. प्रभुदयाल अग्निहोत्री (dr prabhu dayal agnihotri), महारानी लक्ष्मीबाई महाविद्यालय में प्रोफेसर एवं संस्कृत विभाग के विभागाध्यक्ष थे।डा. प्रभुदयाल अग्निहोत्री उत्तर प्रदेश के धनोरा गांव के रहने वाले कानकुब्ज ब्राम्हण थे। 1971 में डा प्रभूराम अग्निहोत्री डायरेक्टर आफ हिन्दी ग्रंथ अकादमी बनकर भोपाल पहुंच गए। इसके बाद उन्हें भोपाल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर बनाया गया। विवेक के पिता 1990 के बाद से वे भोपाल के ओल्ड कैंपियन के पास स्थित इ-2 अरेरा कालोनी में रहते थे। विवेक की पढ़ाई बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से हुई।

पल्लवी जोशी से हुई शादी

विवेक अग्निहोत्री की पत्नी का नाम पल्लवी जोशी (Pallavi Joshi) जो की एक प्रोड्यूसर और अभिनेत्री है।विवेक अग्निहोत्री और पल्लवी जोशी ने 28 जून 1997 को शादी की थी। इस शादी से उन्हें पल्लवी और विवेक के दो बच्चे – एक बेटा और एक बेटी हैं।पल्लवी और विवेक दोनों को ही अपनी-अपनी फील्ड में महारथ हासिल है। 

 क्या आप जानते हैं कि दोनोंं की मुलाकात (विवेक अग्निहोत्री और पल्लवी जोशी) कैसे हुई थी?

विवेक और पल्लवी की मुलाकात एक कॉन्सर्ट में हुई थी, पहली मुलाकात में पल्लवी को विवेक काफी एरोगेंट (घमंडी ) लगे थे। हालांकि, दोनों एक दूसरे के काम की काफी इज्जत करते थे। एक इंटरव्यू में विवेक अग्निहोत्री ने पल्लवी संग पहली मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा था- हम 90 के दशक में एक रॉक कॉन्सर्ट में मिले थे। हम पहले से एक दूसरे को नहीं जानते थे, लेकिन एक बात हम दोनों में कॉमन थी, वो ये कि उस कॉन्सर्ट में हम दोनों ही बोर हो गए थे।

बाद में धीरे-धीरे विवेक और पल्लवी के बीच बातें बढ़ने लगीं। दोनों एक दूसरे को अच्छे से जानने लगे। फिर तीन साल तक डेट करने के बाद दोनों ने शादी कर ली। विवेक और पल्लवी का मानना है किसी भी रिलेशनशिप में दोस्ती होना बहुत जरूरी है। विवेक और पल्लवी कई प्रोजेक्ट्स में साथ काम कर चुके हैं।

कैसा रहा है पल्लवी जोशी का करियर

पल्लवी जोशी ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट ‘बदला’ और ‘आदमी सड़का का’ फिल्म में काम किया है 90 के दशक में दूरदर्शन के कई टीवी सीरियल में काम कर चुकी हैं। टीवी सीरियल ‘अल्पविराम’ में पल्लवी ने रेप पीड़िता का किरदार निभाया था। इसके अलावा वह पॉपुलर शो आरोहण में नजर आई थीं। पल्लवी ने मिस्टर योगी’, ‘भारत एक खोज’, ‘जुस्तजू’ जैसे कई सीरियल में काम किया। बॉलीवुड और टीवी के अलावा उन्होंने मराठी फिल्मों में भी काम किया है। फिल्म द ताशकंद फाइल्स के लिए उन्होंने बेस्ट एक्ट्रेस इन सपोर्टिंग का नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है।

जहा एक और विवेक अपने विचारों में आक्रोश और देश में होने वाले समसामयिक मुद्दों पर बेबाक बयानों के लिए भी जाने जाते हैं।साथ ही विवेक अपने ट्वीट के लिए भी काफी फेमस हैं। वही दूसरी और पल्लवी इन सभी बातो से दूर रहना पसंद करती है।

चार साल में पूरी हो सकी फिल्म

विवेक ने बताया कश्मीरी पंडित समुदाय के सुरेंद्र कोल उन्हें अमेरिका के ह्यूस्टन में मिले थे।उन्होंने कहा था कि क्या उनके समुदाय का दर्द कभी ईमानदारी के साथ लोगों तक पहुंच पाएगा। इसके बाद उन्होंने फिल्म बनाने की ठान ली। पत्नी पल्लवी से राय ली तो उन्होंने कहा कि जब देश के सिपाही बहादुरी से हम सबकी रक्षा कर सकते हैं तो हम अपनी कला से देश सेवा क्यों नहीं कर सकते हैं।

बस इसी उत्साह के साथ फिल्म निर्माण शुरू कर दिया। फिल्म लगभग चार वर्ष की मेहनत का नतीजा है। बीच में दो वर्ष कोरोना काल में शूटिंग नहीं हो सकी। लेकिन अब विवेक अग्निहोत्री ने भी बताया कि उन्हें ‘द कश्मीर फाइल्स’ बनाने की वजह से बहुत सारी धमकियां मिली थीं।

विवेक रंजन अग्निहोत्री का निजी जीवन

विवेक का जन्म ग्वालियर मध्य प्रदेश में हुआ। विवेक की शादी एंकर, थियेटर और फिल्म एक्टर पल्लवी जोशी से हुई है। विवेक दो बच्चों के पिता है।

विवेक रंजन अग्निहोत्री की फिल्म्स

विवेक अब तक हिंदी सिनेमा में कई फिल्मों का निर्देशन कर चुके हैं जिसमे, चॉकलेट धन धना धन गोल, हेट स्टोरी, जिद, बुद्धा इन ट्रेफिक जाम और जुनूनियत शामिल है।

विवेक रंजन अग्निहोत्री की आने वाली फिल्में

द कश्‍मीर फाइल्‍सThe Kashmir Files

Release Date : 11 Mar 2022
Cast : मिथुन चक्रवर्ती, अनुपम खेर
Director : विवेक अग्निहोत्री (Vivek Ranjan Agnihotri)

द कश्‍मीर फाइल्‍स की कहानी

द कश्‍मीर फाइल्‍स एक बॉलीवुड ड्रामा है जिसका निर्देशन विवेक रंजन अग्निहोत्री करेंगे। हाल ही में विवेक ने द ताशकन्‍द फाइल्‍स का भी निर्देशन किया था। इस फिल्म में मिथुन चक्रबोर्ती, अनुपम खेर, दर्शन कुमार, पल्लवी जोशी और चिन्मय मण्डेलकर मुख्य भूमिका में नजर आयेंगें।

विवेक रंजन अग्निहोत्री की किताब

विवेक ने 2018 बतौर लेखक “अर्बन नक्सल्स” किताब लिखी।

विवेक रंजन अग्निहोत्री की कंट्रोवर्सी

वर्ष 2018 में तनुश्री दत्त ने विवेक पर आरोप लगाते हुए कहा कि,जब वह फिल्म चॉकलेट डीप डार्क सीक्रेट में काम कर रही थीं अग्निहोत्री ने कहा कि वह कपड़े उतारे और डांस करें वो इरफ़ान को क्यू दें

ताकि इरफान एक्सप्रेशन दे सकें। जिसके बाद विवेक ने तनुश्री पर मानहानि का मुकदमा लिखवाया है। इसके अलावा उन्होने सोशल मीडिया पर एक प्रेस रिलीज जारी किया है। इस प्रेस रिलीज में लिखा है कि उनके ऊपर लगाए गए इल्जाफ फर्जी है और ये सब बदनाम करने की साजिश है।

इन दिनों विवेक की फिल्म द कश्मीर फाइल्स ने सभी को हैरान कर दिया है।90 के दशक में कश्मीर में हुए कश्मीरी पंडितों के नरसंहार के बारे में बताया गया है। इससे पहले उन्होंने 1984 के दंगों पर आधारित द देल्ही फाइल्स भी बनाई है। एक डायरेक्टर होने के साथ ही विवेक एक लेखक भी हैं, उनकी किताब अर्बन नक्सल बेस्ट सेलर किताब भी है। यहीं नहीं विवेक और पल्लवी एक एनजीओ का भी संचालन करते हैं, जिसका नाम है- आइ एम बुद्धा।

Leave a Reply