काजू के क्या फायदे एवं नुकसान हैं,और एक दिन में कितने काजू खाने चाहिए

हेल्थ
काजू खाने के फायदे और नुकसान बताएं
काजू खाने के फायदे और नुकसान बताएं

Table of Contents

काजू खाने के फायदे और नुकसान बताएं – Use and Benefits of Cashews

सर्दी का मौसम आते ही सभी लोग अनेक प्रकार के नट्स जैसे बादाम

Advertisement
, काजू, मुनका व अखरोट को अपने आहार में शामिल करना पसंद करते हैं। नट्स शरीर को गर्मी देने के साथ−साथ कई तरह की बीमारियों से बचता करते है और अनेक स्वास्थय वर्धक लाभ भी देते हैं। Read this : Diabetes manage tips : यह कुछ नटस मधुमेह के लिए अच्छे माने जाते है

नट्स की बात हो और काजू (Cashews) के बारे में ना कहा जाए ऐसा कैसे हो सकता है क्युकी इसमें प्रोटीन, खनिज, आयरन, फाइबर, फोलेट, मैग्नीशियम, फास्फोरस, सेलेनियम, एंटीऑक्सीडेंट्स, मिनरल और विटामिन पाए जाते हैं। जिसके कारण इसे हेल्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

लेकिन यह सभी के लिए फायदेमंद हो ऐसा जरुरी नहीं कुछ लोगों के लिए इसका सेवन नुकसानदेह भी होता है जिससे उन्हें कई प्रकार की शारीरिक समस्याये हो सकती है

आज के इस पोस्ट में  मैं आपको sangeetaspen के माध्यम से काजू के उपयोग से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी देने का प्रयास कर रही हु आप इससे सम्बन्धित विडिओ भी sangeetaspen youtube  चैनल पर देख सकते है

काजू क्या है? What is Cashews ?

काजू का पेड़ एक छोटा, लगभग 12 मी ऊँचा, मध्यम आकार का आम के वृक्ष के जैसा सदा हरा-भरा रहने वाला वृक्ष होता है। इसकी शाखाएं मुलायम होती है। काजू के वृक्ष की छाल से पीले रंग का रस निकलता है।

काजू का पत्ता कटहल के पत्ता जैसा होता है,लेकिन यह सुगन्धित होता है। इसके फूल छोटे, गुलाबी धारियों युक्त, पीले रंग के होते हैं, जिनमें सफेद गिरी होती है, इसे ही काजू कहते हैं।

इसके ताजे फलों के रस से एक प्रकार का मद्य तथा फलों के छिलकों से काला व कड़वा रस युक्त तेल निकाला जाता है। यह तेल त्वचा में लगने से त्वचा पर फफोले हो जाते हैं।काजू (Cashews)आयात निर्यात का एक बड़ा व्यापार भी है। काजू से अनेक प्रकार की मदिरा भी बनाई जाती है ।

काजू की उत्पत्ति

काजू की उत्पत्ति ब्राजील से हुई है। किन्तु आजकल इसकी खेती दुनिया के अधिकांश देशों में की जाती है। सामान्य तौर पर काजू का पेड़ 13 से 14 मीटर तक बढ़ता है। हालांकि काजू की बौनी प्रजाति जो 6 मीटर की ऊंचाई तक बढ़ता है, जल्दी तैयार होने और ज्यादा उपज देने की वजह से बहुत फायदेमंद साबित हो रहा है।

काजू उत्पादन क्षेत्र

काजू उत्पादन का बड़ा क्षेत्र हैं। इसकी व्यावसायिक खेती दिनों-दिन लगातार बढ़ती जा रही है क्योंकि काजू सभी अहम कार्यक्रमों या उत्सवों में जरूरी हिस्सा बन गया है।

काजू का पेड़ और काजू की फसल 

विदेशी बाजारों में भी काजू की बहुत अच्छी मांग है। काजू बहुत तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है और इसमे पौधा रोपण के तीन साल बाद फूल आने लगते हैं और उसके दो महीने के भीतर पककर तैयार हो जाता है। इसलिए काजू व्यावसायिक उत्पादकों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।

काजू का उपयोग

काजू (Cashews) का उपयोग मिठाई और सब्जी की ग्रेवी को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है. काजू से बनी बर्फी को लोग बहुत पसंद करते हैं. स्वाद के साथ ही यह सूखा मेवा सेहत को स्वस्थ रखने में भी उपयोगी है.Read this : बाँस के फायदे और बाँस का मुरब्बा एवं अचार बनाने की विधि

काजू का उपयोग अनेक बार पकवानो का स्वाद बढ़ाने के लिए और पकवानो को सजाने के लिए किया जाता है जैसे काजू खीर और सूजी में स्वाद एवं सजावट दोनों ही काम आता है 

काजू खाने स्वास्थय्वर्धक लाभ

1. काजू शरीर में एनर्जी बनाएं रखता है

काजू को ऊर्जा का एक बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है.यह शरीर में एनर्जी बनाये रखता है जिससे थकान, कमजोरी और अनिद्रा जैसी समस्याएं नहीं होती

अगर किसी कारण आपका मूड खराब है तो 2-3 काजू (Cashews) खाने से आपको इस समस्या में आराम मिल सकता है. नियमित 2 से 4 काजू का ही सेवन करना चाहिए हालांकि इसे खाने से सेहत को कोई नुकसान नहीं पहुंचता लेकिन फिर भी इसे ज्यादा मात्रा में नहीं खाना चाहिए.

2. प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत है 

काजू में प्रोटीन अधिक मात्रा में होता है इसलिए इसे खाने से बाल और त्वचा स्वस्थ और सुंदर हो जाते हैं.

3. काजू कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करता है

काजू (Cashews) कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है. इसमें प्रोटीन अधिक होता है और यह जल्दी पच जाता है. काजू आयरन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है इसलिए खून की कमी को दूर करने के लिए काजू को आहार में शामिल किया जा सकता हैं

4. त्वचा बनती है चमकदार

काजू खाने से त्वचा में ग्लो आने लगता है। सौंदर्य बढ़ाने के लिए अक्सर ही घरेलू नुस्खों को काजू का उपयोग किया जाता रहा है.

5. काजू याद्दाशत तेज करता है

काजू विटामिन-बी का खजाना माना जाता है। खली पेट काजू और शहद एक साथ खाने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। और काजू के सेवन से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है.

6. हड्डियों को मजबूत बनाता है

काजू में प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है. काजू में मौजूद मोनो सैचुरेटड फैट दिल को स्वस्थ रखता है

7. पाचन शक्ति को बनता है मजबूत

काजू में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के साथ ही वजन भी संतुलित रखता है.

8 .काजू डायबिटीज में लाभदायक

अगर आपको डायबिटीज है तो ऐसे में आपको इसका सेवन जरु करना चाहिए. दरअसल इसमें ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपके बल्ड में मौजूद ग्लूकोज को स्टैबलाइज करने में मदद करते हैं. ऐसे में आपको इसका सवेन करना चाहिए ताकि आप स्वस्थ रह सकें. Read this : A1 और A2 दूध में अंतर और डायबटीज़ में कोन सा दूध पिए 

9.काजू बालो की ग्रोथ के लाभदायक

काजू में प्रोटीन अधिक मात्रा में होता है इसलिए इसे खाने से बाल और सुंदर हो जाते हैं. दरअसल काजू में मैग्नीशियम, जिंक, आयरन और फास्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. जो बालों को कमजोर होने से बचाने के साथ-साथ उन्हें मुलायम चमकदार और घने बनाने में मदद कर सकते हैं.

काजू के नुकसान

1.सिरदर्द बनेगा माइग्रेन

अगर आपको हमेशा सिर दर्द की परेशानी से दो−चार होना पड़ता हैं या फिर आपको माइग्रेन की शिकायत है तो ऐसे में बेहतर होगा कि आप काजू का सेवन न करें। दरअसल, इसमें अमीनो एसिड पाया जाता है जो सिरदर्द की समस्या को गंभीर बना सकता है।

2.काजू से बढ़ता वजन

काजू को एक हाई कैलोरी फूड आइटम माना गया है। भले ही इसके सेवन से व्यक्ति को जल्द भूख न लगे लेकिन जिन लोगों का वजन ज्यादा है या फिर जो व्यक्ति अपना वजन कम करने की फिराक में हैं, उन्हें इसका सेवन बेहद सीमित मात्रा में करना चाहिए।

 30 ग्राम काजू में 163 कैलोरी और 13.1 फैट पाया जाता है। इसलिए अगर आप नियमित या अधिक मात्रा में काजू का सेवन करते हैं तो अपने वेट लॉस गोल्स को कभी पूरा नहीं कर पाएंगे। Read this : घर पर बादाम पाउडर कैसे बनाये

3.पथरी में करें परहेज

अगर किसी व्यक्ति को गॉलब्लैडर स्टोन अर्थात् पित्त में पथरी की शिकायत है तो उसके लिए भी काजू का सेवन उचित नहीं माना जाता। काजू में एक ऑक्सलेटेस नामक तत्व पाया जाता है जो पथरी की समस्या को बढ़ाने का काम करता है। ऐसे में व्यक्ति की स्थिति नाजुक हो सकती है।

4.उच्च रक्त चाप की समस्या

अगर किसी व्यक्ति को उच्च रक्तचाप की शिकायत रहती है तो उसे भूलकर भी काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। आपको बता दू की काजू में सोडियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को और भी अधिक बढ़ा देता है। ऐसे में स्थिति से निपटना काफी मुश्किल हो जाता है।

एक दिन में कितने काजू खाने चाहिए – How Much Nuts Per Day ?

काजू
  • दो से दस साल के बच्चे को- रोज छह से सात काजू दे सकते हैं.
  • टीनेज (18 साल तक)- 10 काजू तक डाइट में शामिल कर सकते हैं.युवा- रोज पांच काजू तक ले सकते हैं.
  • 45 की उम्र के लोग- रोज पांच काजू तक ले सकते हैं. बशर्ते उन्हें कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या न हो.
  • अगर रोज रात को सोने से पहले दो काजू के साथ एक गिलास दूध पियेंगे तो शरीर कई लाभ मिलेंगे।
  • 2,4 काजू मिल्क में डालकर भीगा दे और सुबह खा ले इन बीज काजू को आप छोटे बच्चो को भी दे सकते है

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है. यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं है ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें. sangeetaspen इस जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नहीं लेता है

2 comments

Leave a Reply