रोजमेरी  के फायदे

हेल्थ
What are the benefits of Rosemary
What are the benefits of Rosemary

रोज़मेरी क्या है – What is Rosemary

रोज़मेरी (Rosemary) को हिन्दी मे मेहंदी या गुलमेहँदी भी कहते है यह एक सुगन्धित सदाबहार जड़ी-बूटी है। रोजमेरी का बोटेनिकल नाम साल्विया रोसमारिनस (Salvia Rosemary) है, जो पुदीना परिवार लेमियासी (Lamiaceae) फैमिली का है। इसके पत्तीयो से तेल

Advertisement
निकाला जाता है,

इसका ज्यादा उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है। यह पौधा सीधा बढ़ते हुए 1.5 मीटर से 2 मी तक लंबा होता है ,रोज़मेरी के सदाबहार पत्ते ऊपर से हरे और नीचे से रोमिल सफेद सुई के आकार के होते है। तथा इसके फूल सर्दी या वसंत ऋतु में खिलते हैं।

जिनका रंग बैंगनी, गुलाबी, नीला या सफेद होता है। तथा भूमध्यसागरीय क्षेत्र का मूल पौधा है।रोज़मेरी का उपयोग पाचन समस्याओं के लिए किया जाता है, जिसमें आंतों की गैस (पेट फूलना), और भूख न लगना शामिल है।

तथा यह लिवर और पित्ताशय की थैली की समस्याओ को भी दूर करता है। इसके अतिरिक्त खांसी, सिरदर्द, उच्च रक्तचाप, निम्न रक्तचाप, ऊर्जा और मानसिक थकान की बीमारी के लिए भी रोज़मेरी का उपयोग किया जाता है।यह याददाश्त को बढ़ाता है ,

रोज़मेरी को चाय के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। यह बाजार में उपलब्ध सबसे स्वास्थ्यप्रद चाय में से एक है, जो एंटीऑक्सिडेंट और अन्य जीवाणुरोधी और एंटिफंगल घटकों में समृद्ध है।

Read this : कैमोमाइल चाय के फायदे

रोजमेरी का इस्तेमाल खाने में फ्लेवर डालने के लिए भी किया जाता है। इसके साथ ही यह आयरन, कैल्शियम और विटामिन बी-6 का एक अच्छा स्त्रोत है। काफी समय से रोजमेरी का इस्तेमाल इलाज के लिए किया जाता रहा है। इसके उपयोग से मांसपेशियों के दर्द में आराम, याद्दाश्त में सुधार, रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी आदि जैसे फायदे मिलते हैं।

रोजमेरी किस रूप में उपलब्ध है ?

रोजमेरी कैप्सूल अर्क
रोजमेरी लिकविड एक्सट्रेक्ट
रोजमेरी की चाय
रोजमेरी तेल

रोजमेरी कितनी सुरक्षित है ?

खाद्य पदार्थ के रूप में रोजमेरी के सुरक्षित होने की संभावना है। रोजमेरी का इस्तेमाल यदि दवा के रूप में, त्वचा पर लगाने में या अरोमा थेरिपी के रूप में सांस द्वारा इसे लिया जाता है, तो रोजमेरी संभवतः ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है। लेकिन रोजमेरी का तेल जिसे किसी दूसरी चीज में मिलाकर पतला ना किया गया हो उसका सेवन करना असुरक्षित है।

रोजमेरी  के क्या क्या फायदे है – What are the benefits of Rosemary

रोजमेरी  के फायदे – benefits of Rosemary

  • रोजमेरी बालों का गिरना काम करता है

बाल झड़ने की समस्या हो या डैंड्रफ की परेशानी रोजमेरी से दूर किया जा सकता है। इसलिए रोजमेरी हेयर ऑयल का इस्तमाल करना चाहिए। प्रारंभिक शोध से पता चलता है, कि स्कैल्प पर लैवेंडर, थाइम,

और देवदार के तेल के साथ रोजमेरी का तेल लगाने से बालों के विकास में सुधार होता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नॉलजी इंफॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार झड़ते बालों की परेशानी को भी रोजमेरी ऑयल के इस्तेमाल से दूर किया जा सकता है।

  • याददाश्त में सुधार

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार रोजमेरी ऑयल मस्तिष्क के विकास के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। रोजमेरी ऑयल ब्रेन के लिए मेमोरी बूस्टर की तरह काम करता है। सभी एज ग्रुप के लोगों को रोजमेरी के फायदे मिल सकते हैं और याददाश्त अच्छी रह सकती है।

  • कैंसर के लक्षणों को दूर करने के लिए रोजमेरी का उपयोग

कैंसर रिसर्च यूके (Cancer Research UK) के अनुसार कैंसर के लक्षणों को दूर करने के लिए रोजमेरी एसेंशियल ऑयल का उपयोग किया जा सकता है क्युकी इसमें मौजूद रोजमेरिनिक एसिड कैंसर के लक्षणों को कम करने में मददगार हो सकता है।

  • सिर दर्द के इलाज में उपयोगी

रोजमेरी सरदर्द और माइग्रेन को दूर करने के लिए भी एक सहायक जड़ी बूटी मानी गयी है. माइग्रेन की समस्या को दूर करने के लिए एक बड़े से बर्तन में पानी गर्म करके उसमें कुछ रोजमेरी की पत्तियां डालकर उबाल लें और उस पानी के बाप से 10:15 मिनट तक उसका भाप ले. इससे माइग्रेन की समस्या ठीक होती है.

  • रोजमेरी से ओरल केयर

ओरल एक्सपर्ट्स एवं रिसर्च के अनुसार रोजमेरी का इस्तेमाल माउथवॉश के रूप में किया जा सकता है। रोजमेरी ऐंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर है। जिसकी वजह से यह दांतों या मसूड़ों में होने वाले इंफेक्शन से बचाये रखता है।साथ ही रोजमेरी के फायदे कैविटी की समस्या से भी निजात दिला सकते है।

  • त्वचा के लिए फायदेमंद

रोजमेरी में बहुत तरह के एंटी-एजिंग तत्व और अन्य तत्व पाए जाते हैं.जो शरीर की त्वचा को हेल्दी बनाए रखने में सहायक होते हैं.रोजमेरी युक्त क्रीम लगाने से चेहरे की त्वचा पर झुर्रियां नहीं पड़ती है.रोजमेरी चेहरे की त्वचा में मौजूद दाग-धब्बों को दूर करने के साथ त्वचा की गुणवत्ता को भी बढ़ाते हैं।

रोजमेरी तेल का इस्तेमाल कई सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है।अगर समय के साथ त्वचा में कुछ बदलाव हो भी गया हो। तो वह इससे ठीक हो जाता है. रोजमेरी स्किन के लिए टोनर का काम करती है।

इसके आलावा, रोजमेरी के एंटी-एजिंग के लिए भी प्रभावकारी है। ये चेहरे की झुर्रियों को दूर करने में मदद करता है। कई अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि रोजमेरी का तेल सूरज की हानिकारण UV किरणों से त्वचा की रक्षा भी करता है।

  • तनाव को दूर करती है

रोजमेरी की सुगंध मनमोहक होती है. इसकी खुशबू से दिमाग बिलकुल शांत हो जाता है और इसका उपयोग जब अरोमा थेरेपी करवाते हैं तो उसमें रोजमेरी तेल का उपयोग किया जाता है. इसलिए इसे तनाव दूर करने का एक रामबाण नुस्खा माना जाता है।

एक अध्ययन में पाया गया कि परीक्षा से पहले कुछ स्टूडेंट्स को रोजमेरी का तेल सुंघाया गया था, जिससे उनका पल्स रेट 9 प्रतिशत तक काम हो गया और उन्हें तनाव को काम करने में काफी मदद मिली। इसके अलावा कई और अध्ययनों में भी ये पाया गया है कि रोजमेरी कोर्टिसोल नामक हार्मोन को भी संतुलित करता है, जो कि तनाव का मुख्य कारण होता है।

  • कब्ज को दूर करने में

रोजमेरी में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं. जो अक्सर पेट को ठीक करने में मदद करते हैं. रोजमेरी से खराब पेट कब्ज सूजन और दस्त इत्यादि के लिए आप इसका उपयोग कर सकते हैं.

साथ ही इससे पेट और संबंध प्रणाली को नियंत्रित भी कर सकते हैं. इसी सप्ताह में एक बार जरूर इस्तेमाल करना चाहि। जर्मनी सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने तो रोजमेरी को खट्टी डकार या हाजमे से जुड़ी बीमारियों के लिए औषधी के रूप में बढ़ावा देना शुरू कर दिया है। लेकिन इस पर अभी भी कुछ अध्ययन की जा रही है।

  • सूजन दूर करने में

रोजमेरी के इस्तेमाल से शरीर का सूजन कम होता है और इससे कार्नोसोल और कार्नोसिक नामक दो शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. जो सूजन को कम करने में बहुत मदद करते हैं.यह बहुत सी चीजों के लिए प्रभावशाली होती है। रोजमेरी के तेल में दर्दनाशक गुण होते हैं

और इस बात का कुछ शोध भी समर्थन करते हैं। दो हफ्तों तक चले स्ट्रोक के मरीजों पर चले एक अध्ययन में यह पाया गया कि कुछ मरीजों को जिन्हें कंधे में दर्द था, रोजमेरी के तेल से 20 मिनट तक मसाज देने से दर्द की तीव्रता 30 प्रतिशत कम हो गयी थी।

इससे यह साबित हुआ कि रोजमेरी में कई दर्दनाशक गुण होते हैं। इसलिए मांसपेशियों के दर्द, जोड़ों के दर्द या सूजन जैसी परेशानियों को दूर करने के लिए रामबाण माना जाता है।

  • संक्रमण से बचाता है

रोजमेरी सर्दी-जुकाम और खांसी जैसी शारीरिक परेशानियों को दूर करने लिए भी जाना जाता है। क्योंकि इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। यही दोनों (एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी) संक्रमण से बचाने में मददगार होता है। वहीं बंद नाक की समस्या को दूर करने के लिए रोजमेरी के फायदे जाने जाते हैं। रोजमेरी तेल एसेंशियल ऑयल की श्रेणी में आता है

  • इम्यून सिस्टम और ब्लड प्रेशर की समस्या

रोजमेरी (Rosemary) एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी तत्वों से भरपूर है, जो रक्तचाप और इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में सहायक होता है। एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होने के कारण ये फ्री रेडिकल्स के नुकसान से भी आपके शरीर को बचाती है। को दूर रखने में रोजमेरी के फायदे हो सकते हैं।

रोजमेरी के नुकसान – Loss of rosemary

  • अगर आपको पुदीना के सेवन से एलर्जी होती है तो आपको रोजमेरी के सेवन से परहेज करना चाहिए।
  • छोटे बच्चों के पहुंच से दूर रखें, अधिक मात्रा के मामले में चिकित्सा सहायता प्राप्त करें
  • गर्भावस्था के दौरानरोजमेरी का उपयोग नहीं करना चाहिए.

रोज़मेरी (Rosmarinus ) कैसे काम करती है, इस बारे में अभी तक पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

sangeetaspen.com का उद्देश्य केवल जानकारी देना है । इसलिए आपको रोज़मेरी (Rosmarinus ) के उपयोग से पहले चिकिस्तक से अवश्य सुझाव ले

Leave a Reply