What is burping | Reason of burping | jaane dakaar aane ke kya karn he

हेल्थ
Reason of burping
Reason of burping

What is burping | Reason of burping | jaane dakaar aane ke kya karn he |डकार क्या होती है ?

डकार क्या होती है?

burping : उचित रूप से पाचन तंत्र में बनने वाली वायु (गैस का ऊपर चढ़ाना) नीचे की ओर (अधोगति) चलनी चाहिए। लेकिन उस स्थिति में जब यह वायु ऊपर की ओर (गैस का ऊपर चढ़ाना) चलती है तो यह डकार का रूप ले लेती है।हालांकि डकार अच्छे स्वास्थ्य

Advertisement
की निशानी नहीं है। कभी कभी गैस का ऊपर चढ़ना (डकार आना) ह्रदय व फेफड़ों पर अपना दबाव डाल कर कष्टकारी स्थिति बना देती है। इसे आम भाषा में ‘गैस का ऊपर चढ़ाना’ या डकार आना कहते हैं।

यह भी पढ़े : Hiccups : हिचकी क्यों आती है, हिचकी रोकने के लिए घरेलू उपाय

खाना खाने के बाद डकार आना कई बार हमें लगता है कि पेट में खाना जाने से वहां भरी गैस बाहर आ रही है। और हम इसे हंसी-मजाक में उड़ा देते हैं और ज्यादा ध्यान नहीं देते। ऐसा शायद इसलिए है क्योंकि लोगों को यह बहुत नैचुरल लगता है। जिसके बाद वे हल्का महसूस करते हैं। दरअसल, जिसे हम हंसकर टाल देते हैं यह एक समस्या है। इसके कारण भी अलग-अलग हैं। जिस पर समय रहते ध्यान देना बहुत जरूरी है।

लेकिन एक्सर्साइज योग या रनिंग के बाद डकार आना समझ से परे होता है। हमें लगता है कि इतनी कैलरी बर्न करने के बाद तो हमें भूख लग रही है, फिर ये डकार क्यों आ रही है? जो कि खाना खाते वक्त पेट भरने का सिग्नल मानी जाती है? तो आइये आज इस टॉपिक पर ही बात करते है की डकार क्या है ? क्यों आती है ? कैसे हम इस समस्या से राहत पाए ?डकार के कारण

यह भी पढ़े : Summer fruit benefits : ये फल गर्मियों में शरीर में पानी की कमी नहीं होने देते हैं

डकार के कारण

  • कई लोग जल्दी-जल्दी, बड़े- बड़े कौर लेकर खाते हैं। इसके कारण डाइजेशन पर असर पड़ता है और ज्यादा डकार आती है।
  • खाते समय या जम्हाई लेते समय ज्यादा मुंह खोलने से पेट में ज्यादा हवा चली जाती है। इससे बार-बार डकार आ सकती है।
  • डाइजेशन खराब होने के कारण कब्ज या बदहजमी की प्रॉब्लम हो जाती है। इससे पेट में गैस बनने लगती है और डकार आती है।
  • पेट खाली होने के कारण पेट की खाली जगह में हवा भर जाती है। यह हवा डकार के जरिए बाहर निकलने की कोशिश करती है।
  • कार्बोनेटेड ड्रिंक्स, जंक फूड, गोभी, मटर, दालें जैसे कई फूड पेट में गैस बनाते हैं। इन्हें खाने-पीने के बाद ज्यादा डकार आती है।
  • डाइजेशन में मदद करने वाले कुछ बैक्टीरिया पेट में मौजूद होते हैं। इनका बैलेंस बिगड़ने पर भी गैस बनती है और डकार आती है।
  • स्मोकिंग करने वाले सिगरेट के धुंए के साथ ढेर सारी हवा अंदर खींचते हैं। पेट में भरी यह हवा डकार के जरिए बाहर निकलती है।
  • अच्छे से फिट नहीं होने के कारण नकली दांतों के बीच गैप बन जाता है। कुछ खाने-पीने के दौरान ज्यादा हवा पेट में चली जाती है।
  • स्ट्रेस और टेंशन के कारण कुछ लोग ओवरईटिंग करते हैं। डाइजेशन की प्रोसेस भी स्लो हो जाती है। इससे बार-बार डकार आती है।
  • पेट की कुछ बीमारियों, लेक्टोज इनटॉलरेंस, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, अल्सर जैसी बीमारियों के कारण गैस बनती है और डकार आती है।

यह भी पढ़े :  Beetroot benefits : चुकन्दर के फायदे और नुकसान

डकार आना कोई बीमारी का इशारा तो नहीं?

ज्यादातर मामलों में डकार आना सामान्य बात है लेकिन अगर ये आपकी डेली लाइफ का हिस्सा बन जाए तो संभल जाएं। हो सकता है कि आपके शरीर में कुछ ऐसा हो रहा है, जिसपर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यक्ता है। कई बार डकार पेट की कई बीमारियां की ओर भी इशारा करती है।

क्या हो सकता है समाधान?

अगर आपको भूख के कारण गैस बन रही है तो आप तुरंत कुछ खा लें। लेकिन एक साथ बहुत अधिक और हैवी खाना ना खाएं। इससे डायजेशन में दिक्कत हो सकती है। क्योंकि अभी तक भूख के कारण आपका पाचन तंत्र बहुत धीमे काम कर रहा था और अगर आप उस पर तुरंत बहुत अधिक लोड डाल देंगे तो उसके लिए मैनेज करना मुश्किल होगा। इसलिए तेज भूख लगने पर पहले कुछ हल्का-फुल्का खाएं। जब फिर भूख का अहसास हो तो दोबारा खा लें। इससे पाचन भी दुरुस्त रहेगा और भोजन का पूरा पोषण भी आपको मिलेगा।

क्या नहीं करना है?

  • जब भूख बहुत तेज लग रही हो तो आपको बहुत अधिक पानी नहीं पीना चाहिए। यह पेट दर्द की वजह बन सकता है। साथ ही आपको बार-बार यूरिन पास होने की दिक्कत भी हो सकती है।
  • भूख को बहुत अधिक देर तक बर्दाश्त ना करें। नहीं तो सिर दर्द या पेट दर्द की शिकायत हो सकती है। इसकी वजह खाली पेट बनने वाली गैस होती है।

यह भी पढ़े : गन्ने से चीनी बनाने की पूरी जानकारी

समझें डकार का संकेत

बहुत तेज भूख लगने पर जब आप थोड़ा सा भी कुछ खाते हैं तो 5 से 10 मिनट के अंदर यानी जो चीज आप खा रहे हैं, उसे खाते-खाते ही डकार आ जाती है। इस डकार के बाद आपको करीब 30 मिनट का ब्रेक लेना चाहिए। इसके बाद आप अपना सैकेंड मील ले सकते हैं।

यह डकार इस बात का संकेत होती है कि पेट खाली नहीं रहा और पाचन तंत्र को डायजेशन के लिए भोजन मिल गया है। अब आप पहले इस भोजन को पचाने में लगे पाचन तंत्र को स्पीड पकड़ने दें। उसके बाद कुछ और खाएं।

लगातार और बेहिसाब डकार निश्चित तौर पर किसी मेडिकल कंडिशन की ओर इशार करती है। आप GERD यानी गैस्ट्रोईसोफैगल रीफ्लक्स और SIBO यानी स्मॉल इंटेस्टाइनल बैक्टीरियल ग्रोथ जैसी समस्याओं का शिकार हो सकती हैं। ऐसे में ज्यादा डकार आने पर हेल्थ चेकअप जरूर कराना चाहिए।

यह भी पढ़े : Soft Drink are Injurious to Health | soft drink pine ke nuksan

.

FAQ :

Q : डकार क्यों आती है?

Ans : खट्टी डकार का आना आमतौर पर कोई बीमारी नहीं है इससे यह पता चलता है कि आपके पेट में हवा ज्यादा भर गई है। इसके अलावा यह समस्या ज्यादा खाने या फिर जल्दी-जल्दी खाने से भी होती है। बता दें कि डकारें अपच के कारण पैदा होती हैं और अपच धूम्रपान, तनाव, कोल्ड ड्रिंक, शराब के सेवन आदि से पैदा होता है।

Q : मुँह से गैस क्यों निकलता है?

Ans : यह तब हो सकता है जब आप मुंह से हवा को अंदर लेते हैं. आपकी आंतों में कुछ गैस बैक्टीरिया और वहां रहने वाले अन्य रोगाणुओं से बनती है. अगर आपको बहुत ज्यादा गैस बनती है तो इसका एक कारण ये हो सकता है कि आप बहुत अधिक हवा अंदर ले जा रहे हैं. उसमें से कुछ हवा डकार के रूप में तो कुछ गैस के जरिए बाहर आती है.
 

Q : बार बार डकार आना कैसे बंद करें?

रोजाना खाने के बाद एक टुकड़ा अदरक का अपने मुंह में रखें. ऐसा रोजाना करने से पेट में गैस की समस्या दूर हो जाती है. इसके अलावा जब कभी आपको डकार आए आप इसे मुंह में रखकर धीरे-धीरे रस लें. इससे डकार की समस्या दूर होगी.

Q : ज्यादा डकार आने का क्या मतलब है?

Ans : डाइजेशन खराब होने के कारण कब्ज या बदहजमी की प्रॉब्लम हो जाती है। इससे पेट में गैस बनने लगती है और ज्यादा डकार आती है

Leave a Reply