What is Vitamin B12 | Vitamin B12 ki kami ke lakshan aur bimariyan | विटामिन बी12 की कमी के लक्षण और बीमारियां

हेल्थ
What is Vitamin B12
What is Vitamin B12

What is Vitamin B12 | Vitamin B12 ki kami ke lakshan aur bimariyan | विटामिन बी12 की कमी के लक्षण और बीमारियां

Advertisement

Vitamin B12 : आज विभिन्न कारणों से हमारे खानपान में पोषण की थोड़ी कमी हो गई है. इसके चलते शरीर में विटामिन, मिनरल्स की कमी आम हो गई है लेकिन कुछ विटामिन ऐसे हैं, जिनकी कमी हमारे शरीर पर गंभीर असर डाल सकती है. ऐसा ही विटामिन है बी12, जिसकी शरीर में कमी होने पर आप कई बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं.

लोगों को विटामिन बी12 की कमी होना आम बात है, लेकिन अधिकांश लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती। वयस्कों में अधिकांशतः इसकी कमी पाई जाती है। गर्भावस्था, स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी विटामिन बी12 की कमी हो सकती है। परन्तु ज्यादा लंबे समय तक अगर इस पर ध्यान ना दिया जाए तो यह डिप्रेशन का कारण भी बन सकती है.

विटामिन बी12 क्या है

विटामिन बी12 हमारे शरीर का एक अहम पोषक तत्व है जो हमारी नर्व सेल्स और ब्लड सेल्स को हेल्दी रखता है. विटामिन बी 12 हमारे शरीर की सेल्स में डीएनए और अन्य जेनेटिक सेल्स के निर्माण में भी मदद करता है.

किन खाद्य पदार्थों में पाया जाता है विटामिन बी12 – विटामिन बी12 एनीमल प्रोडक्ट जैसे मीट, डेयरी प्रोडक्ट्स, अंडों में पाया जाता है. एक व्यस्क व्यक्ति को दिनभर में 2.4 माइक्रोग्राम विटामिन बी12 की जरूरत होती है. गर्भवती महिलाओं में इसकी ज्यादा मात्रा चाहिए होती है.

पाचन खराब बन सकता है कमी का कारण – सबसे पहले आप जो खाना खाते हैं, उसमें से पेट में मौजूद एचसीएल एसिड हमारे खाने से विटामिन बी12 को अलग करता है. इसके बाद एक खास प्रोटीन जो आपके पेट में ही मिलता है वह विटामिन बी12 के साथ कंबाइंड होकर इसके बाद पचता है. ऐसे में अगर किसी व्यक्ति का पाचन तंत्र ठीक नहीं है तो उसे विटामिन बी12 को पचाने में दिक्कत हो सकती है

विटामिन बी12 की कमी के कारण हो सकता है डिप्रेशन – विटामिन बी12 हमारे दिमाग में जरूरी केमिकल्स के निर्माण में मदद करता है. विटामिन बी12 सेरोटोनिन बनाता है जो हमारे मूड को सही और खुश रखता है लेकिन अगर विटामिन बी12 की कमी होगी तो इससे मूड स्विंग की दिक्कत हो सकती है. अगर लंबे समय तक यह दिक्कत बनी रहेगी तो इससे पीड़ित व्यक्ति डिप्रेशन में जा सकता है. इसका असर इतना व्यापक है कि यह व्यक्ति का व्यवहार भी बदल सकता है.

ये हैं विटामिन बी12 की कमी के लक्षण – जब शरीर में विटामिन बी12 की कमी हो जाती है तो शुरुआती दौर में इसके लक्षण पहचान में नहीं आते। जब लोगों को इससे संबंधित परेशानियां होनी शुरू होती हैं तब जांच कराने के बाद इसकी कमी का पता चलता है। इसलिए विटामिन बी12 की कमी से होने वाली बीमारियां एवं लक्षण की जानकारी होनी जरूरी है।

विटामिन बी12 की कमी से कई बीमारियां हो सकती हैं। इनमें से कुछ बीमारियों का इलाज तो आसानी से कराया जा सकता है, लेकिन कुछ रोग ऐसे भी हैं जो बहुत ही गंभीर होते हैं। इन गंभीर बीमारियों के कारण मरीज को बहुत अधिक परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं।

एनीमिया विटामिन बी12 से होने वाली कई गंभीर बीमारियों में से एक एनीमिया है। जरूरी बात ये है कि अगर समय पर पता लगाकर जांच नहीं कराया गया तो एनीमिया मरीज के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

हड्डियों से संबंधित बीमारी – शोध के अनुसार, इसकी कमी से हड्डी से संबंधित कई रोग हो सकते हैं, जैसे कमर और पीठ में दर्द की शिकायत हो सकती है।

डिमेंशिया (विक्षिप्त अवस्था) – वास्तव में, विटामिन बी12 की कमी से मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को काफी नुकसान पहुंच सकता है, जिससे कई तरह की मानसिक बीमारियां हो सकती है। ऐसी ही एक बीमारी है डिमेंशिया। यह एक गंभीर बीमारी है जिसमें मरीज की दिमागी हालत ठीक नहीं रहती, और वह सोचने-समझने लायक भी नहीं रहता। रोगी विक्षिप्त अवस्था में भी पहुंच सकता है।

भूलने की बीमारी का कारण विटामिन बी12 की कमी – यह बीमारी विटामिन बी12 की कमी के कारण भी हो सकती है, लेकिन अक्सर देखा जाता है कि ऐसी मानसिक बीमारी को लोग प्रायः गंभीरता से नहीं लेते, जिससे रोगी को बहुत नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को ऐसे लक्षण बार-बार महसूस होने लगे तो डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

तंत्रिका-तंत्र को स्थाई क्षति – इसकी कमी से तंत्रिका-तंत्र को बहुत अधिक क्षति पहुंच सकती है। डॉक्टर के अनुसार, मरीजों को इससे होने वाले नुकसान को जीवन भर झेलना पड़ सकता है।

What is Vitamin B12
What is Vitamin B12

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को नुकसान – नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन (एनआईएन) के अनुसार, गर्भवती महिलाएं या स्तनपान कराने वाली माताएं, जो पर्याप्त मात्रा में मांसाहारी आहार का सेवन नहीं करती हैं, या केवल शाकाहारी आहार पर ही आश्रित हैं, उनको विटामिन बी12 की कमी हो सकती है। अगर सही समय पर इसकी जांच नहीं कराई गई तो इससे शिशु को भी नुकसान हो सकता है।

महिलाओं में अस्थाई बांझपन – विटामिन बी12 की कमी से महिलाओं को अस्थाई बांझपन की परेशानी हो सकती है। हालांकि यह अन्य कारणों से भी हो सकता है। इसलिए ऐसी स्थिति में जांच कराना जरूरी है।

पेट या क्रॉन रोग – पेट से संबंधित बीमारियां विटामिन बी12 की कमी के कारण भी हो सकता है। इसी तरह क्रॉन रोग के कारण भी शरीर में विटामिन बी12 की कमी हो सकती है।

सर्जरी के बाद कम हो सकता है विटामिन बी12 – एनआईएन के अनुसार, लोग कई प्रकार की सर्जरी कराते हैं जैसे- वजन कम करने के लिए कराई गई सर्जरी या अन्य सर्जरी। कई सर्जरी में कुछ अंगों को शरीर से हटाया जाता है। इसके कारण शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं कम हो जाती हैं, और यह विटामिन बी12 की कमी का कारण बन सकता है। इसलिए ऐसे लोगों सर्जरी के बाद अपने खान-पान पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

त्वचा में संक्रमण – विटामिन बी12 की कमी से व्यक्ति की त्वचा बीमार हो सकती है। त्वचा में संक्रमण हो सकता है। घावों को भरने में देरी हो सकती है। इसके साथ-साथ नाखून सहित कई अंगों में पीला-पन सा आने लगता है।

विटामिन बी12 की कमी ऐसे की जा सकती है पूरी

विटामिन बी12 की कमी को पूरा करने के लिए दवाईयों और सही पोषण का सहारा लिया जाता है. इसके तहत ओरल तौर पर दवाईयां खाकर इस कमी को पूरा किया जा सकता है. साथ ही इंजेक्शन देकर और नेजल स्प्रे से भी विटामिन बी12 की कमी को पूरा किया जा सकता है।

आपको विटामिन बी12 की कमी और उसके लक्षण की जानकारी मिल गई है। इसलिए आपके शरीर में इसकी कमी न हो इसके लिए विटामिन बी12 से युक्त आहार का सेवन जरूर करें। ध्यान रहे कि इसके सप्लीमेंट्स के सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें ।

Leave a Reply