15 मई तक नहीं एक्सेप्ट की WhatsApp की नई पॉलिसी तो…

Top News, Tech
Not until May 15, you will not be able to use WhatsApp's new policy
Not until May 15, you will not be able to use WhatsApp’s new policy

15 मई तक नहीं एक्सेप्ट की WhatsApp की नई पॉलिसी तो आपके अकाउंट का क्या होगा,

WhatsApp को नई प्राइवेसी पॉलिसी को इंट्रोड्यूस करने के बाद से ही लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है. पहले इस पॉलिसी को एक्सेप्ट करने की डेडलाइन 8 जनवरी थी. हालांकि लगातार चल रहे विरोध के कारण कंपनी ने इसे बढ़ाकर 15 मई कर दिया है.

Advertisement

ये भी पढ़ें:-WhatsApp के जवाब में सरकारी ऐप ‘Sandes’, आम लोग भी अब कर सकेंगे इस्तेमाल; क्या है इसकी खासियत 

लेकिन क्या आपको मालूम है कि अगर आप 15 मई तक वॉट्सऐप की इस नई पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते हैं तो आपके साथ क्या होगा. कंपनी ने इन सभी सवालों का जवाब अपने फेसबुक ब्लॉग पर उपलब्ध करवाया है. इसके साथ FAQ में सभी सवालों के जवाब भी दिए गए हैं.

WhatsApp पिछले कुछ महीनो से मुश्किल में हैं। इसकी वजह WhatsApp Messaging app की नई प्राइवेसी पॉलिसी (Privacy Policy) । और इन नए नियम-कायदों को लेकर व्हाट्सऐप को तगड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा। इसके अलावा

ये भी पढ़ें:- Telegram unique feature: Telegram ने यूनिक फीचर पेश करके Whatsapp चैट की चिंता बड़ा दी

बहुत बड़ी संख्या में यूजर्स ने दूसरे मेसेजिंग ऐप्स का रुख करना भी सुरु कर दिया जिसके चलते कई नए app को बहुत ज्यादा Impotence मिलने लगी। लेकिन तमाम विवादों के बावजूद इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp ने अपना रुख नहीं बदला

वह अपने बेरुखे रुख पर कायम है। कंपनी ने ऐलान किया है कि भारत में जो भी यूजर उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करेंगे, वो मई 15, 2021 के बाद Whatsapp का प्रयोग नहीं कर पाएँगे।

व्हाट्सऐप ने यूजरों को सिक्यॉरिटी देने का वादा करते हुए कहा है कि वो अपने अपडेट से पीछे नहीं हटेगा। व्हाट्सऐप ने यूजर्स को 15 मई तक प्राइवेसी पॉलिसी को मानने के लिए कहा।

अब, WhatsApp ने साफ कर दिया है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी 15 मई से लागू हो जाएगी। व्हाट्सऐप यूजर्स को डेडलाइन से पहले ही नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करना होगा वरना उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

व्हाट्सऐप के इस बर्ताव के बाद कई लोग सिग्नल और टेलीग्राम जैसे एप्स पर शिफ्ट हो गए हैं।साथ ही अनेको ऐसे विकल्प है जिन्हे

ये भी पढ़ें:- WhatsApp Privacy Policy 2021

WhatsApp ने कहा है कि वो ‘धीरे-धीरे’ अपने यूजर्स से कहेगा कि वो उसके नए टर्म्स एंड कंडीशंस को स्वीकार करें। ऐसा न करने पर वो एप का प्रयोग ही नहीं कर पाएँगे।

यानी की 15 मई तक WhatsApp की नई शर्तों को स्वीकार नहीं करने पर व्हाट्सऐप अकाउंट की फंक्शनैलिटी कम हो जाएगी। ऑफिशियल WhatsApp FAQ पेज में कहा गया है,

‘पॉलिसी नहीं मानने पर आप कॉल करने और रिसीव करने में तो सक्षम होंगे, और नोटिफिकेशन भी देख पाएंगे। लेकिन आप व्हाट्सऐप से मेसेज सेंड और रिसीव नहीं कर पाएंगे।

साथ ही Whatsapp ने कहा है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार न करने के बावजूद कुछ दिनों तक यूजर्स को एप का प्रयोग करने दिया जाएगा। इसका सीधा मतलब यह है कि WhatsApp आपको नए नियमों को मानने के लिए मजबूर कर रहा है।इसे WhatsApp की दादागिरी ना कहे तो क्या कहे

ये भी पढ़ें:- How to use the signal app: जानिए सिग्नल ऐप की सभी सेटिंग्स के बारे में

व्हाट्सऐप आपके अकाउंट को तुरंत डिलीट नहीं करेगा बल्कि आपके एक्सेस को रेस्ट्रिक्ट करेगा

जो यूजर्स नई प्राइवेसी की शर्तों को मानने से इनकार कर देंगे, वे उस स्थिति में भी 120 दिन तक के लिए ऐप को इस्तेमाल कर सकेंगे। हालांकि, इस समय के दौरान मैसेजिंग ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल सीमित तौर पर किया जा सकेगा। जो यूजर्स 120 दिन के भीतर नए नियम-कायदे नहीं मानेंगे, उनके WhatsApp अकाउंट को डिलीट कर दिया जाएगा।

कॉल और नोटिफिकेशन मिल सकेंगे

व्हाट्सऐप के आधिकारिक FAQ में कहा गया है कि कम समय के लिए यूजर्स को कॉल और नोटिफिकेशन मिल सकेंगे, लेकिन आप ऐप से मैसेज को पढ़ और भेज नहीं सकेंगे।

ये भी पढ़ें :- Koo app: इस देसी ट्विटर की खुबिया देख केन्द्रीय मंत्री और रेल मंत्री भी इधर शिफ़्ट हो गएएक बार अकाउंट डिलीट होने के बाद नहीं मिलेगा वापस

व्हाट्सऐप ने कहा है कि अगर आपका अकाउंट एक बार हट जाएगा तो यूजर इसे वापस नहीं पा सकते हैं। कंपनी का कहना है कि अकाउंट डिलीट होना एक ऐसी चीज होगी जिसे हम रिवर्स नहीं कर सकेंगे।

यूजर्स के मेसेज और हिस्ट्री हो जाएगी डिलीट और ग्रुप्स से हटा दिया जाएगा

व्हाट्सऐप ने कहा है कि शर्तें नहीं मानने पर यूजर्स की मेसेज हिस्ट्री पूरी तरह से डिलीट हो जाएगी। इसके साथ ही यूजर्स को सभी व्हाट्सएप ग्रुप से हटा दिया जाएगा जिनके वे हिस्सा हैं। कंपनी का कहना है कि 15 मई से पहले यूजर्स अपनी चैट हिस्ट्री को Android या iPhone से एक्सपोर्ट कर सकेंगे।

यूजर्स को आश्वस्त करने के लिए चैट विंडो में एड दिखाया जाएगा

अब यूजर्स को आश्वस्त करने के लिए नया तरीका निकाला है। चैट विंडो के टॉप पर एक एड दिखाया जाएगा, जिसमें नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में लोगों को ‘शिक्षित’ किया जाएगा।

एकाध सप्ताह में ये फीचर काम करने लगेगा। इसमें बताया जाएगा कि उसे कौन सी सूचनाएँ चाहिए और कैसे इसका गलत उपयोग नहीं हो सकता है। यूजर्स को इस पॉलिसी के रिव्यू के लिए भी विकल्प दिए जाएँगे, ताकि वो और अधिक जानें।

लेकिन एक बात यहाँ पर WhatsApp को भी अच्छेसे समजनि चाहिए की भारत में कोई भी कंपनी अपनी मनमानी नहीं चला सकती जब बात खुद की सुरक्षा की आती है तो हम इन app को ही बाय बाय बोलते है इसका उदाहरण TikTok एवं अन्य 59 एप्स है

जिन्होंने सरकार और यूजर्स के सवालों का जवाब देने की बजाए बातों को गोलमोल घुमाना शुरू कर दिया।और अपनी मनमानी करनी चाही जिसका नतीजा ये हुआ कि भारत ने चीन पर ‘डिजिटल स्ट्राइक’ के क्रम में इन एप्स को प्रतिबंधित कर दिया ।

मामला उस बार भी सिक्योरिटी और प्राइवेसी से ही जुड़ा था।और इस बार भी सिक्योरिटी और प्राइवेसी से ही जुड़ा है।

Leave a Reply