World Cancer Day 2022: कब और कैसे हुई इस दिन की शुरुआत और इस साल का थीम

न्यूज़
World Cancer Day 2021: कब और कैसे हुई इस दिन  की शुरुआत और इस साल का थीम
Advertisement
World Cancer Day 2021: कब और कैसे हुई इस दिन की शुरुआत और इस साल का थीम

World Cancer Day 2021: कब और कैसे हुई इस दिन की शुरुआत और इस साल का थीम

World Cancer Day 2021 लोगों को कैंसर के कारणों को लेकर जागरूक करने के मकसद से हर साल 4 फरवरी को वर्ल्ड कैंसर डे मनाया जाता है। लेकिन यह सिर्फ एक दिन नहीं है बल्कि कैंसर से लड़ रहे उन तमाम लोगों में नई उम्मीद पैदा करने वाला दिन है।

कुछ साल पहले तक कैंसर को लाइलाज रोग माना जाता था, लेकिन हाल ही के कुछ सालों में ही कैंसर के उपचार की दिशा में क्रांतिकारी रिसर्च हुई है और अब अगर समय रहते कैंसर की पहचान कर ली जाए तो उसका उपचार किया जाना काफी हद तक पॉसिबल है। कैंसर के संबंध में यह समझ लेना बेहद जरूरी है कि यह बीमारी किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकती है। तो सेहत के प्रति कभी भी लापरवाही न बरतें।

World Cancer Day 2021 : When and how did this day begin and this year’s theme

विश्व कैंसर दिवस का इतिहास

विश्व कैंसर दिवस (World Cancer Day 2021) सबसे पहले 1993 में स्विट्ज़रलैंड में UICC के द्वारा मनाया गया था। जिसमें कुछ अन्य प्रमुख कैंसर सोसाइटी, ट्रीटमेंट सेंटर, पेशेंट ग्रुप और रिसर्च इंस्टिट्यूट ने भी इसको आयोजित करने में मदद की थी। ऐसा बताया जाता है कि उस समय तकरीबन 12.7 मिलियन लोग कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। जिनमें से हर साल तकरीबन 7 मिलियन लोगों अपनी जान गवां देते थे।

क्यों मनाया जाता है विश्व कैंसर दिवस

कैंसर के बारे में लोगों को जागरूक करने और इसके लक्षण और बचाव के बारे में जानकारी देने के मकसद से विश्व कैंसर दिवस (World Cancer Day 2021) मनाया जाता है। ऐसे बहुत से लोग हैं जो आज भी इसे छूने से फैलने वाली बीमारी मानते हैं तो उन्हें ही जागरूक करना है जिससे कैंसर के मरीजों को समाज में अलग बर्ताव का सामना न करना पड़े। साथ ही जो इस बीमारी से जूझ रहे हैं उन्हें मोटीवेट करने के लिए भी यह दिन मनाया जाता है।

कैंसर दिवस का थीम

इस साल विश्व कैंसर दिवस को क्लोज द केयर गैप (Close The Care Gap ) थीम के साथ मनाया जा रहा है।। सबसे पहले विश्व कैंसर दिवस (World Cancer Day 2021) वर्ष 1993 में जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में यूनियन फॉर इंटरनेशनल कैंसर कंट्रोल (UICC) के द्वारा मनाया गया था।

ये हो सकती हैं कैंसर होने की वजह

लम्बे समय तक तंबाकू या गुटखे का सेवन करना,
सिगरेट पीना,
शराब पीना,
लंबे समय तक रेडिएशन के संपर्क में रहना,
आनुवंशिक दोष होना,
शारीरिक निष्क्रियता,
खराब पोषण एवं
कभी-कभी मोटापा भी कैंसर होने की वजह बन सकता है.

कई तरह का होता है कैंसर

कैंसर कई तरह के होते हैं, लेकिन जो केस सबसे ज्यादा सामने आते हैं उनमें
स्तन कैंसर,
सर्वाइकल कैंसर,
पेट का कैंसर,
ब्लड कैंसर,
गले का कैंसर,
गर्भाशय का कैंसर,
अंडाशय का कैंसर,
प्रोस्टेट (पौरुष ग्रंथि) कैंसर,
मस्तिष्क का कैंसर,
लिवर (यकृत) कैंसर,
बोन कैंसर,
मुंह का कैंसर और फेफड़ों का कैंसर शामिल है.

ये हो सकते हैं कैंसर के लक्षण – Cancer Symptoms
अधिक थकान
वजन का घटना
कमजोरी
शरीर में गांठ बनना
कफ और सीने में दर्द
कूल्हे या पेट में दर्द
पीरियड्स में तकलीफ

कैंसर से बचाव के लिए ये करें उपाय
शराब का सेवन न करें,
रेडिएशन के संपर्क में आने से बचें,
फाइबर युक्त डाइट लें, धूम्रपान करने से बचें,
डाइट में अधिक फैट न लें,
शरीर का सामान्य वजन बनाए रखें,
नियमित रूप से एक्सरसाइज करें

विशेषज्ञों का, कहना है कि डाइट में सुधार और क बदला करके कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से लड़ा जा सकता है. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके सेवन से आप कैंसर के खतरे को कम कर सकते हैं-

कैंसर ऐसी बीमारी है जिसका नाम सुनते ही शरीर में सिहरन दौड़ जाती है, कष्टदायी कीमोथैरेपी, सर्जरी की कल्पना से ही लोग डर जाते हैं। लंबे इलाज के बाद कुछ का जीवन बच पाता तो कई लोग इलाज के बावजूद इस साइलेंट किलर की चपेट में आकर अपनी जान गवां बैठते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन भी कैंसर को एक जानलेवा बीमारी मान चुका है।WHO के मुताबिक हर 10 में एक भारतीय को कैंसर होने की आंशका बनी रहती है और 2025 तक तो देश के 16 लाख लोग कैंसर का शिकार हो सकते हैं। जिसमें सबसे ज्यादा ब्रेस्ट कैंसर के मरीज़ होंगे।

कैंसर के खतरे को कम करने के घरेलू उपाय (Home Remedies)

ब्रोकली – नियमित तौर पर ब्रोकली खाने से कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है. इसके सेवन से माउथ कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, लीवर कैंसर होने का खतरा काफी कम हो जाता है.

ग्रीन टी ग्रीन टी पीने से कैंसर के खतरे को काफी कम किया जा सकता है. ग्रीन टी के सेवन से ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा काफी कम हो जाता है. नियमित रूप से 2 से 3 ग्रीन टी पीना फायदेमंद होता है.

टमाटर – टमाटर में एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. जो इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करते हैं. टमाटर, विटामिन A, C और E का भी बेहतरीन स्त्रोत है. इसके साथ ही ये ब्रेस्ट कैंसर से भी बचाव का अच्छा उपाय है.

ब्लू बैरी- ब्लू बैरी कैंसर से बचाव का अचूक उपाय है. ब्लू बैरी स्किन, ब्रेस्ट और लीवर कैंसर से सुरक्षित रखने में मददगार है. ब्लू बेरी का जूस पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है.

अदरक अदरक भी कई तरह के कैंसर से बचाव में सहायक है. अदरक शरीर में मौजूद टॉक्स‍िन्स को दूर करने का काम करता है. इसके सेवन से स्किन, ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा कम होता है.Read this : अदरक का उपयोग

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं.sangeetaspen इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Leave a Reply