World Environment Day 2022 in hindi | world environment day 2022 theme in hindi | what is only one earth | विश्व पर्यावरण दिवस थीम

Education
World Environment Day 2022 in hindi
World Environment Day 2022 in hindi

World Environment Day 2022 in hindi | world environment day 2022 theme in hindi | what is only one earth | विश्व पर्यावरण दिवस थीम

World Environment Day 2022 : विश्व पर्यावरण दिवस 2022 को ‘ओनली वन अर्थ’(only one earth)

Advertisement
विषय के साथ मनाया जा रहा है, जो ‘प्रकृति के साथ सद्भाव में रहने’ पर केंद्रित है, क्योंकि यह हमारे ग्रह को सेलिब्रेट करने, संरक्षित करने और पुनर्स्थापित करने के लिए वैश्विक स्तर पर सामूहिक, परिवर्तनकारी कार्रवाई का आह्वान करता है

World Environment Day 2022 की थीम के बारे में

‘ओनली वन अर्थ’ (only one earth) विषय का फोकस “प्रकृति के साथ सद्भाव’ स्‍थापित करने पर है, क्योंकि यह हमारे ग्रह को सेलिब्रेट करने, संरक्षित करने और पुनर्स्थापित करने के लिए वैश्विक स्तर पर सामूहिक, परिवर्तनकारी कार्रवाई का आह्वान करता है.

1972 के स्टॉकहोम सम्मेलन का नारा “ओनली वन अर्थ” था, 50 साल बाद भी, यह सच्चाई अभी भी कायम है – यह ग्रह हमारा एकमात्र घर है. स्टॉकहोम में पर्यावरण पर 1972 का संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन पर्यावरण को एक प्रमुख मुद्दा बनाने वाला पहला विश्व सम्मेलन था.

यूएनईपी कहता है, “आपातकालीन मोड में प्रकृति के साथ, विश्व पर्यावरण दिवस 2022 के लिए #OnlyOneEarth अभियान, चाहता है कि आप सामूहिक पर्यावरणीय कार्रवाई के माध्यम से ग्रह को सेलिब्रेट करें. ‘ओनली वन अर्थ’ थीम वैश्विक स्तर पर परिवर्तनकारी पर्यावरणीय परिवर्तन की वकालत करती है.

यह अभियान जलवायु कार्रवाई, प्रकृति कार्रवाई और प्रदूषण कार्रवाई पर प्रकाश डालता है, जबकि सभी को हर जगह स्थायी रूप से जीने के लिए प्रोत्साहित करता है.”

इसमें आगे कहा गया है कि जहां हमारे व्यक्तिगत उपभोग विकल्पों से फर्क पड़ता है, यह सामूहिक कार्रवाई है जो हमारे लिए आवश्यक परिवर्तनकारी पर्यावरणीय परिवर्तन पैदा करेगी, इसलिए हम एक अधिक टिकाऊ और न्यायपूर्ण पृथ्वी पर आगे बढ़ सकते हैं, जहां हर कोई फल-फूल सकता है.

World Environment Day 2022 : पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए सम्पूर्ण विश्व में 5 जून को हर साल विश्व पर्यावरण दिवस यानी वर्ल्ड एन्वायरमेंट डे (World Environment Day 2022) मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक जागृति लाने के लिए सन 1972 में स्वीडन के स्टॉकहोम में सम्मेलन का आयोजन किया ।

जिसमें विश्व के 119 देश शामिल हुए थे। उस समय 5 जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा इसका आयोजन विश्व पर्यावरण सम्मेलन के रूप में किया गया था। तब से प्रति वर्ष पांच जून (5 june) को विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) मनाया जाता है, ताकि लोगों को पर्यावरण के प्रति ना सिर्फ जागरूक किया जा सके अपितु उन्हें पर्यावरण संरक्षण के लिए उत्साहित भी कीया जाए।

only one earth
only one earth

लोगों में पर्यावरण (Vishwa Paryavaran Diwas) के प्रति जागरूकता जगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा संचालित विश्व पर्यावरण दिवस (Vishwa Paryavaran Diwas) दुनिया का सबसे बड़ा वार्षिक आयोजन है। इसका मुख्य उद्देश्य हमारी प्रकृति की रक्षा के लिए जागरूकता बढ़ाना और दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे विभिन्न पर्यावरणीय मुद्दों को देखना है। 

अगर आप किसी बड़े शहर में रहते हैं, तो आप जानते होंगे कि यहां रह रहे लोग हर साल बढ़ते तापमान और प्रदूषण के बीच किस तरह जी रहे हैं। हालांकि ये हाल सिर्फ बड़े शहरों का नहीं है बल्कि सम्पूर्ण विश्व का है।

आज तेज़ी से बढ़ता तापमान और प्रदूषण इंसानों के साथ-साथ पृथ्वी पर रह रहे अन्य सभी जीव-जन्तू के लिए बड़ा ख़तरा बन गया है। यही वजह है कि कई जीव विलुप्त हो रहे हैं। अगर हम अभी भी पर्यावरण के प्रति नहीं जगे तो आने वाले समय में हमारा जीवन संकटो से भर जायेगा

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की शुरुआत कब और कहां से हुई

1972 में पहली बार विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) मनाने की शुरुआत स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में हुई । जिसमें 119 देशों ने भाग लिया तथा 1987 में इसके केन्द्रो को बदलते रहने का प्रस्ताव रखा गया तब से प्रत्येक वर्ष पर्यावरण दिवस के आयोजन के लिए अलग-अलग देशो को चुना जाता है।

विश्व में जब पर्यावरण दिवस (Environment Day) मनाया जा रहा था। तब भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने भारत की प्रकृति और पर्यावरण के प्रति अपनी चिंताये जाहिर की थी। उसके कुछ वर्षो बाद 19 नवंबर 1986 में भारत में पर्यावरण संरक्षण के लिए पर्यावरण संरक्षण अधिनियम लागू हुआ।

पर्यावरण की परिभाषा

पर्यावरण दो शब्दों के योग से बना है। परी+आवरण यानी की हमारे चारो और का वह प्राकृतिक आवरण जो हमें घेरे रखता पर्यावरण कहलाता है।

पर्यावरण के जैविक संघटकों में सूक्ष्म जीवाणु से लेकर कीड़े-मकोड़े, सभी जीव-जंतु और पेड़-पौधों के अलावा उनसे जुड़ी सारी जैव क्रियाएं और प्रक्रियाएं भी शामिल हैं। और ये सभी चीजें यानी कि पर्यावरण हमारे दैनिक जीवन से सीधा संबंध रखता है। और उसे प्रभावित करता है।

पर्यावरण दिवस को अन्य नामो (Eco Day, World Environment Day) से भी सम्बोधित किया जाता है। इसका मुख्य उदेश्य लोगो में पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाना तथा विश्व को पर्यावरण की सुरक्षा क्यों करनी चाहिए यह समझाना है।

हमें स्वय रखना होगा प्रकृति का ख्याल

हम ख़ुद अपने पर्यावरण का ख़्याल नहीं रख रहे हैं, यही वजह है कि धीरे-धीरे हमारी ज़िंदगी मुश्किल होती जा रही है। और इसीलिए पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करना ज़रूरी है।जिस प्रकार हम खुद का और अपने परिवार का ख्याल रखते है ठीक वैसे ही हमें प्रकृति का भी ख्याल रखना होगा क्युकी प्रकृति के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है

World Environment Day 2022 theem in hindi
World Environment Day 2022 theem in hindi

विश्व पर्यावरण दिवस 2022 का महत्व

संयुक्त राष्ट्र का यह अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर्यावरण पहुंच के लिए सबसे बड़ा वैश्विक मंच बन गया है, जिसमें दुनिया भर के लाखों लोग ग्रह की रक्षा के लिए शामिल होते हैं. 2022 वैश्विक पर्यावरण समुदाय के लिए एक ऐतिहासिक मील का पत्थर है क्योंकि यह मानव पर्यावरण पर 1972 के संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के 50 साल पूरे होने का प्रतीक है, जिसे व्यापक रूप से पर्यावरण पर पहली अंतर्राष्ट्रीय बैठक माना जाता है.

1972 के Stockholm Conference ने दुनिया भर में पर्यावरण मंत्रालयों और एजेंसियों के गठन को प्रोत्साहित किया और सामूहिक रूप से पर्यावरण की रक्षा के लिए कई नए वैश्विक समझौतों की शुरुआत की. यह वह जगह भी थी जहां गरीबी उन्मूलन और पर्यावरण संरक्षण के लक्ष्य जुड़े हुए थे, जिससे सतत

विकास लक्ष्यों का मार्ग प्रशस्त हुआ. स्टॉकहोम सम्मेलन में, विश्व पर्यावरण दिवस के विचार को औपचारिक रूप दिया गया था, यह पहली बार 1973 में मनाया गया था.

Leave a Reply