World Teachers Day 2021 : आखिर क्यों मनाया जाता है ‘अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस’, जानें इतिहास

Top News

World Teachers’ Day 2021 : आखिर क्यों मनाया जाता है ‘अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस’, जानें इस साल की थीम और इतिहास 

World Teachers Day : शिक्षक वो जरिया होता है जो शिष्य को उसकी मंजिल तक पहुंचाता है पर आज शायद विश्व में शिक्षक और शिष्य के रिश्ते में दूरी आ गई है. आज शिक्षक का महत्व शिष्य की नजरों में बहुत कम है और शिक्षक भी शिष्य की नींव मजबूत करने की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं.

Advertisement

भारत में शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को मनाया जाता है जबकि अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस (World Teachers Day) का आयोजन 5 अक्टूबर को होता है. रोचक बात तो यह है कि शिक्षक दिवस (Teacher Day) दुनिया भर में मनाया जाता है लेकिन सबने इसके लिए एक अलग दिन निर्धारित किया हुआ है इसलिए कुछ देशों में शिक्षक दिवस वाले दिन अवकाश रहता है पर बाकी देशों में उस दिन रोजमर्रा की तरह कामकाजी दिन रहता है.

जिस तरह हमारे स्वतंत्र भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर, 1888 को हुआ और सर्वपल्ली राधाकृष्णन की याद में भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता है. पर यह जान कर आप चकित रह जाएंगे कि दुनियाभर में शिक्षक को महत्व देने के लिए और शिक्षक की जिम्मेदारियों को याद दिलाने के लिए विश्व शिक्षक दिवस (World Teachers Day) मनाया जाता है.

विश्व शिक्षक दिवस (World Teachers Day) की खासियत ही यही है कि सारे संसार में शिक्षकों की महत्ता को स्थापित किया जा सके. में 5 सितंबर को ‘राष्ट्रीय शिक्षक दिवस’मनाया जाता है, उसी तरह पूरी दुनिया में हर साल 5 अक्टूबर को 5 अक्टूबर को ‘अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस’ (World Teachers’ Day मनाया जाता है। ..


‘अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस’ का महत्व  ..

अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस के माध्यम से हम दुनिया भर के शिक्षकों के निस्वार्थ सेवा एवं समर्पण की सराहना एवं मूल्यांकन करते हुए उन्हें भरपूर सम्मान देने की कोशिश करते हैं. इसके साथ ही शिक्षा के दरम्यान शिक्षकों को होनेवाली मूलभूत समस्याओं का निराकरण कर हम जताते हैं कि देश उनके साथ खड़ा है. विश्व भर में शिक्षकों की जिम्मेदारी, उनके अधिकार एवं आगे की पढ़ाई के लिए उनकी तैयारी को महत्व दिया जाता है.

5 अक्टूबर और 5 सितम्बर में अंतर

शिक्षक दिवस (Teacher Day)  5 सितम्बर और 5 अक्टूबर के दिन मनाने में क्या अंतर है यह समझना होगा. भारत में 5 सितम्बर को सर्वपल्ली राधाकृष्णन की याद में शिक्षक दिवस (Teacher Day)मनाया जाता है जिसका कारण भारत में शिक्षकों के महत्व को बढ़ावा देना होता है जबकि विश्व शिक्षक दिवस (World Teachers Day) दुनिया में शिक्षा का महत्व और शिक्षा का महत्व बताने में शिक्षक की भूमिका और उसकी जिम्मेदारियों को समझाने के लिए मनाया जाता है


World Teachers Day 2021 Date: पांच सिंतबर को भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता है. वैसे ही यूनेस्को ने साल 1994 में 5 अक्टूबर को टीचर्स डे (Teachers Day) यानी शिक्षक दिवस मनाने की घोषणा की थी. हम सब जानते हैं कि हम अपने महान शिक्षक सर्वपल्ली राधाकृष्णन की याद में हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस (Teacher’s day) मनाते हैं,

लेकिन वैश्विक स्तर पर अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस (International Teachers Day) 5 अक्टूबर को मनाया जाता है. हालांकि, इसे मनाने के लिए यूनेस्को (UNESCO) और अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (International Labour Organization-ILO) ने 1966 में ही मसौदे को मंजूरी दी थी, लेकिन इसे 5 अक्टूबर 1994 को स्वीकार किया गया.

एक ऐसा दिन, जब शिक्षा के जरिये नई पीढ़ी को ज्ञान स्थानांतरित करने वालों का सम्मान हो. वहीं भारत में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है. जानिए इसके पीछे का इतिहास, क्यों इसी तारीख को हर साल भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता है.

अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस का इतिहास – History Of International Teachers Day

यह भी पढ़ें : Teacher’s Day 2021 : शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है,जानें इस दिवस का महत्व, इतिहास और प्रमुख तथ्य

1966 में यूनेस्को और अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (International Labour Organization-ILO) की एक बैठक में शिक्षकों के अधिकारों, जिम्मेदारियों, रोजगार और आगे की शिक्षा के साथ गाइडलाइन बनाने की बात कही गई थी. संयुक्त राष्ट्र में विश्व शिक्षक दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए साल 1994 में 100 देशों के समर्थन से यूनेस्को की सिफारिश को पारित कर दिया गया. इसके बाद 5 अक्टूबर 1994 से अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस (International Teachers Day) मनाया जाने लगा.


World Teachers Day 2021: अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस का महत्व

अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस का मूल उद्देश्य दुनिया भर में शिक्षकों की स्थिति की सराहना, मूल्यांकन और सुधार करना है. इस दिन को शिक्षकों और शिक्षण से संबंधित मुद्दों पर विचार करने और उन्हें संबोधित करने के अवसर के रूप में देखा जाता है. अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाने के लिए, यूनेस्को और एजुकेशन इंटरनेशनल (ईआई) हर साल शिक्षकों और उनके पेशे की बेहतर समझ प्रदान करने के लिए विभिन्न विषयों पर केंद्रित एक अभियान आयोजित करता है, क्योंकि वे छात्रों और समाज के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस 2021 की थीम -Theme Of International Teachers Day 2021

इस साल अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस 2021 की थीम है शिक्षकः बढ़ते संकट के बीच भविष्य की नई कल्पना (Teachers: leading in crisis, re imagining the future). अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस यूनिसेफ, अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन और अंतरराष्ट्रीय शिक्षा के साथ साझेदारी में मनाया जाता है. सतत विकास लक्ष्य-4 के तहत एजुकेशन 2030 एजेंडा ( Education 2030 agenda) के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए शिक्षकों के योगदान को सर्वोच्च मान्यता देने की बात कही गई है.

‘विश्व शिक्षक दिवस’ का इतिहास ..

दुनिया भर के शिक्षकों के कार्यों एवं समर्पण को समझते हुए साल 1966 में यूनेस्को और अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन की एक संयुक्त मीटिंग हुई. इस मीटिंग में शिक्षकों के अधिकारों, दायित्वों, रोजगार एवं भविष्य की शिक्षा के साथ एक गाइडलाइन बनाने पर चर्चा हुई थी.

लंबी जद्दोजहद के बाद संयुक्त राष्ट्र में विश्व शिक्षक दिवस को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने की युनेस्को की सिफारिश पर साल 1994 में इसे पारित किया गया. गौरतलब है कि इस स्वीकृति पेपर पर 100 देशों के अधिकारियों ने हस्ताक्षर किया था. इस संस्तुति के बाद 5 अक्टूबर 1994 से अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाने की परंपरा शुरु हुई. हांलाकि भारत समेत कुछ कुछ देश अपने तरीके से शिक्षक दिवस सेलीब्रेट करते हैं. भारत में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है.

दुनिया में शिक्षक दिवस के लिए अलग-अलग दिन

1994 से यूनेस्को में विश्व शिक्षक दिवस (World Teachers Day) मनाया जाता है. समाज में शिक्षकों के प्रति सहयोग को बढ़ावा दिया जाए और शिक्षक की जिम्मेदारियों का अहसास कराने के लिए यूनेस्को में विश्व शिक्षक दिवस(World Teachers Day) की शुरुआत की गई थी. चीन ने भी 1931 में शिक्षक दिवस की शुरुआत की थी

पर 1932 में चीन की सरकार ने चीन में शिक्षक दिवस (Teacher Day) मनाने की अनुमति दी थी और यह तय किया गया कि 27 अगस्त को शिक्षक दिवस(Teacher Day) मनाया जाएगा पर बाद में इस घोषणा को भी वापस ले लिया गया. वर्ष 1985 में यह घोषणा की गई कि 10 सितम्बर को शिक्षक दिवस (Teacher Day)मनाया जाएगा पर चीन में आज भी शिक्षक दिवस को लेकर मतभेद है. चीन में बहुत से लोग यह चाहते हैं कि कंफ्यूशियस का जन्मदिन ही शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाए.

रूस में पहले शिक्षक दिवस (Teacher Day) अक्टूबर महीने के पहले सप्ताह को मनाया जाता था पर 1994 में तय हुआ कि रूस में शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को मनाया जाएगा. अमेरिका भी शिक्षक दिवस(Teacher Day) को लेकर काफी मतभेदों में रहा है.

अमेरिका में पहले शिक्षक दिवस को लेकर तरीके बदले गए फिर मई के पहले सप्ताह में शिक्षक दिवस मनाना तय हुआ. आज भी अमेरिका में शिक्षक दिवस पूरे सप्ताह मनाया जाता है. ईरान में भी शिक्षक दिवस (Teacher Day)मनाया जाता है. अयातुल्लाह मोर्तेजा की हत्या के बाद ईरान में 2 मई को शिक्षक दिवस मनाया जाता है. अयातुल्लाह मोर्तेजा ईरान के मशहूर प्रोफेसरों में से एक थे जिनकी याद में 2 मई को ईरान शिक्षक दिवस( Teacher Day)मनाता है.


कैसे करते हैं सेलीब्रेशन?

विश्व शिक्षक दिवस युनेस्को और एजुकेशन इंटरनेशल (EI) के दिशा निर्देशन में सेलीब्रेट किया जाता है. यूनेस्को और एजुकेशनल तथा अन्य देशों के सहयोग से दुनिया भर में अलग-अलग मंचों पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं, ताकि समाज में शिक्षकों के महत्व एवं उनकी उपयोगिता के बारे में जनजागरण कर उन्हें यथोचित सम्मान दिलाया जा सके. इस दिन छात्र-छात्राएं अपने अध्यापकों की यादों को ताजा करते हुए जताते हैं कि अमुक अध्यापक का छात्र होने का उन्हें गर्व है, और वे आज जिस भी पोजीशन में हैं, उन्हीं की बदौलत हैं.

 

Leave a Reply