Manish Kashyap latest news | सन ऑफ बिहार को रातों रात मिली जमानत! मनीष कश्यप की जेल से कहानी | Exclusive: The Untold Truth of Manish Kashyap’s Bail – A YouTube Sensation’s Legal Battle”

New Post
manish kashyap latest news |सन ऑफ बिहार को रातों रात मिली जमानत! मनीष कश्यप की जेल से कहानी | Exclusive: The Untold Truth of Manish Kashyap's Bail – A YouTube Sensation's Legal Battle"

manish kashyap latest news |सन ऑफ बिहार को रातों रात मिली जमानत! मनीष कश्यप की जेल से कहानी | Exclusive: The Untold Truth of Manish Kashyap’s Bail – A YouTube Sensation’s Legal Battle”

Manish Kashyap : पटना के बेऊर जेल में बंद यूट्यूबर मनीष कश्यप (manish kashyap) को हाईकोर्ट ने जमानत दी है। इसके परिणामस्वरूप, उनकी जेल से रिहाई की प्रक्रिया जारी है। कहा जा रहा है कि वे आज रात तक जेल से बाहर हो सकते हैं। 18 मार्च 2023 को, तमिलनाडु में फेक वीडियो साझा करने के मामले में मनीष कश्यप ने सरेंडर किया था।

उन्होंने कुछ दिन मदुरई जेल में गुजारे, फिर उन्हें पटना के बेऊर जेल में लाया गया और वहां बंद हैं। अब पटना हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है, जिसकी प्रक्रिया जारी है और वे 21 दिसंबर को जेल से बाहर हो सकते हैं। मनीष कश्यप कौन हैं? “मनीष कश्यप, जिन्हें ‘सन ऑफ बिहार’ के नाम से भी जाना जाता है, वे बिहार के चम्पारण जिले के छोटे से गाँव, डुमरी महनवा, में पैदा हुए थे।

उनके पिता का नाम उदित कुमार तिवारी है, जो वर्तमान में भारतीय सेना में कार्यरत हैं, और उनकी माता एक गृहणी हैं। उनके एक बड़े भाई भी हैं, जो किसी निजी कंपनी में काम कर रहे हैं। मनीष कश्यप एक मध्यमवर्गीय परिवार से हैं, और आज उन्होंने खुद को समाज में अलग पहचान बनाई है। वे अविवाहित हैं और अपने आप को क्रांतिकारी मानते हैं। 

manish kashyap latest news
manish kashyap latest news

Manish Kashyap latest news | सन ऑफ बिहार को रातों रात मिली जमानत! मनीष कश्यप की जेल से कहानी | Exclusive: The Untold Truth of Manish Kashyap’s Bail – A YouTube Sensation’s Legal Battle | Breaking: Manish Kashyap Gets Bail! The Inside Story of His Controversial YouTube Saga”

इसलिए वे अपना जीवन देशहित में कुर्बान करने के लिए तैयार हैं। बचपन से ही मनीष कश्यप पढ़ाई में बहुत अच्छे थे, और उन्हें स्कूल में होशियार छात्रों में गिना जाता था। प्रारंभिक शिक्षा उन्होंने अपने गाँव से ही प्राप्त की, और 2009 में उन्होंने अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद, वे इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए महाराष्ट्र गए। वहां पर, 2016 में, उन्होंने सावित्रीबाई फुले विश्वविद्यालय, पुणे से सिविल इंजीनियर की डिग्री प्राप्त की।

इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने के बाद, मनीष कश्यप नौकरी करने की बजाय अपने गृह राज्य, बिहार, लौट आए। उन्हें लगा कि वे किसी नौकरी में काम करने के लिए नहीं बने हैं, बल्कि समाज में चल रही समस्याओं, गरीबों पर हो रहे महंगाई के खिलाफ और सरकार द्वारा चल रहे भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के लिए पैदा हुए हैं, और इसी उद्देश्य के साथ उन्होंने अपने पत्रकारिता का सफर शुरू किया।” 18 मार्च 2023 को सरेंडर किया गया था तमिलनाडु में फेक वीडियो के मामले में, मनीष कश्यप ने 18 मार्च 2023 को सरेंडर किया था।

उन्होंने कुछ दिन मदुरई जेल में रहा, फिर पटना के बेऊर जेल में लाया गया, जहां वे अब तक बंद हैं। उन्हें बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) के द्वारा FIR दर्ज की गई थी, जिसमें उनके खिलाफ कई गंभीर आरोप थे। उन्होंने अनेक दिनों तक अंडरग्राउंड रहा था और फिर बेतिया पुलिस ने उनके घर में कुर्की जब्त की थी,

जिसके बाद उन्होंने स्थानीय थाने में सरेंडर कर दिया। पटना के बेऊर जेल में मनीष कश्यप मनीष कश्यप के सरेंडर के तुरंत बाद, तमिलनाडु पुलिस की टीम ने पटना के पास पहुंचकर उन्हें गिरफ्तार किया। उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर रखा गया और 30 मार्च को तमिलनाडु पुलिस ने उन्हें वहीं से ले जाकर जबर्दस्त छापेमारी केस के तहत बिहार की जेल में ही रखा। अब पटना हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है, जिससे वे जेल से बाहर हो सकते हैं। परिवार और समर्थकों के बीच खुशी का माहौल

Leave a Reply