Red Bell Pepper Benefits And Side Effects In Hindi | Shimla Mirch Ke Fayde |Top Benefits Of Capsicum In Hindi

हेल्थ
Red Bell Pepper Benefits   &  Side Effects In Hindi
Red Bell Pepper Benefits & Side Effects In Hindi

Red Bell Pepper Benefits And Side Effects In Hindi | Shimla Mirch Ke Fayde | Benefits Of Capsicum In Hindi

Shimla Mirch Ke Fayde : शिमला मिर्च (Capsicum)

Advertisement
का इस्तेमाल भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में किया जाता है. शिमला मिर्च लाल, पीले और हरे जैसे विभिन्न रंगों में उपलब्ध हैं. यह विटामिन से भरपूर होते हैं और कई बीमारियों का एक प्रभावी इलाज हैं. विभिन्न औषधीय गुणों के साथ शिमला मिर्च (Capsicum) कुछ स्वादिष्ट व्यंजनों के लिए भी एक बढ़िया घटक है.

ये अपने कई स्वास्थ्य लाभों के लिये जानी जाती है. यह विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों से समृद्ध है. आज हम sangeetaspen.com के माध्यम से जानेंगे कि शिमला मिर्च की उत्पत्ति कैसे हुयी एवं लाल शिमला मिर्च के हमारे स्वास्थ्य के लिए क्या क्या फायदे एवं नुकशान है

क्युकी शिमला मिर्च अलग अलग रंगो में (हरी शिमला मिर्च, लाल शिमला मिर्च, पीली शिमला मिर्च) आती है। अगर आप शिमला मिर्च (Capsicum) खाने के शौकीन हैं तो

आपको हरी शिमला मिर्च खाने के बजाए लाल रंग की शिमला मिर्च खानी चाहिए। साथ ही जानेगे इसका नाम शिमला मिर्च कैसे पढ़ा तो आइये जानते है शिमला मिर्च के बारे में ….

Capsicum : शिमला मिर्च (Capsicum) को अंग्रेजी में कैप्सिकम (Capsicum) या फिर बेल पैपर (bell pepper)भी कहते हैं। शिमला मिर्च और मिर्चों के मुकाबले बहुत कम तीखी होती है इसलिए इसे स्वीट पेपर भी कहते हैं। शिमला मिर्च का बोटैनिकल नाम कैप्सिकम एनम (Capsicum annuum) है और यह सोलन्सी (Solanaceae)परिवार का सदस्य है। शिमला मिर्च का पौधा वार्षिक और बहुवर्षीय दोनों हो सकता है – मौसम के अनुरूप।

शिमला मिर्च (Capsicum) में कई प्रकार के एंटीओक्सीडेंट हैं और इसमें बीटा कैरोटीन, विटामिन बी6 और विटामिन सी बहुतायत में होता है। शिमला मिर्च में लोहा और पोटैशियम आदि खनिज भी पाए जाते हैं। इसलिए इसे बहुत पौष्टिक माना जाता है। शिमला मिर्च को पकाकर सब्जी के रूप में और सलाद में कच्चा भी खाया जाता है।

शिमला मिर्च मूलत: मेक्सिको और दक्षिण अमेरिका में उगाई जाती थी और फिर यहाँ से यह स्पेन पहुंची और उसके बाद यूरोप के और हिस्सों में और एशिया पहुंची।

भारत में शिमला मिर्च (Capsicum) अंग्रेज लेकर आये थे। उस समय जब भारत में इसको उगाने की बात हुई तो शिमला की पहाड़ियों में इसको उगाना सबसे उचित लगा। तो पहली बार भारत में यह मिर्च शिमला में उगाई गयी जिससे इसका नाम ही शिमला मर्च पड़ गया।शिमला मिर्च के पौष्टिक गुण देखकर इसका आजकल खाने में खूब प्रयोग किया जाता है।

सेहत का खजाना शिमला मिर्च

विटामिन सी के सबसे अच्छे स्त्रोत में से एक शिमला मिर्च ( (Capsicum) ) को कई व्यंजनों में प्रयोग किया जाता है क्योंकि ये स्वाद को बढ़ाने में मदद करती है। अंदर से खोखली और बीजों से भरी शिमला मिर्च एक हेल्दी फूड है जो कई स्वास्थ्य गुणों से भरपूर होती है। जैसा कि इसके नाम से प्रतीत होता है शिमला मिर्च, (Capsicum) जबकि इसमें कोई मिर्च-मसाला नहीं होता है।

यूं तो शिमला मिर्च (Capsicum) हमारे स्वास्थ्य के लिए अविश्वसनीय रूप से फायदेमंद हैं क्योंकि यह पाचन को बेहतर बनाने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करती है, हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाती है, सांस संबंधी समस्याओं को दूर करती है और इम्यूनिटी बूस्ट करने में भी मदद करती है।

इन रंगों में आती है शिमला मिर्च

आपने गौर किया होगा कि बाजार में कई रंगों में शिमला मिर्च (Capsicum)  पाई जाती है और ये हरे, पीले और लाल रंगों में उपलब्ध होती है। सभी प्रकार की शिमला मिर्च का आकार लगभग सामान्य होता है लेकिन इसकी सुगंध में अंतर मुख्य रूप से पकाने की प्रक्रिया के कारण होता है।

आपने पहले कई लेख में हरी शिमला मिर्च के फायदों के बारे में सुना होगा लेकिन जब बात लाल और पीले रंग की शिमला मिर्च की आती है, तो दोनों के बीच कुछ समानताएं और अंतर होते हैं। आइए जानते हैं दोनों में कौन ज्यादा स्वादिष्ट होती है और कौन ज्यादा फायदेमंद।

Top Benefits Of Capsicum In Hindi
Top Benefits Of Capsicum In Hindi

कैसे बदलता है शिमला मिर्च का रंग

सभी शिमला मिर्च शुरू में हरे रंग की होती हैं। लेकिन जब ये पूरी तरह से पक जाती हैं, तो इनका रंग लाल हो जाता है और इसलिए इन्हें हरी शिमला मिर्च का पका हुआ संस्करण कहा जाता है। वहीं दूसरी ओर, पीली शिमला मिर्च कच्ची और पकी हुई शिमला मिर्च के बीच की प्रक्रिया के दौरान होती है। ये न तो पूर्ण रूप से पकी हुई होती है और न ही कच्ची।

SHIMLA MIRCH KE FAYDE
SHIMLA MIRCH KE FAYDE

कौन से पोषक तत्व होते हैं मौजूद

लाल शिमला मिर्च आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होती है और पीली शिमला मिर्च की तुलना में इसमें विटामिन ए और सी की मात्रा लगभग दोगुनी होती है। इतना ही नहीं ये विटामिन बी 6, एंटीऑक्सिडेंट और बीटा-कैरोटीन से भी भरपूर होती है। वहीं पीली शिमला मिर्च पोटेशियम, फाइबर और विटामिन ए और सी से समृद्ध होती है ।

स्वाद में अंतर चौंका देगा

लाल शिमला मिर्च का स्वाद मीठा होता है और इसका इस्तेमाल ज्यादातर सलाद या ग्रिल्ड रूप में किया जाता है। वहीं पीली शिमला मिर्च का स्वाद लाल रंग के स्वाद से कम होता है। इसका उपयोग कॉन्टिनेंटल व्यंजनों और पैन एशियाई व्यंजनों में किया जाता है।

सबसे अच्छी और महंगी शिमला मिर्च कौन से रंग की

क्योंकि लाल शिमला मिर्च को उगाने में अधिक समय की आवश्यकता होती है, इसलिए ये सभी रंग की शिमला मिर्चों में सबसे अधिक पकने वाली शिमला मिर्च (Capsicum) होती है। पौष्टिकता के मामले में भी सबसे पौष्टिक लाल शिमला मिर्च ही होती है। इसललिए ये सबसे महंगी शिमला मिर्च भी होती हैं

शिमला मिर्च के नुकसान – Side Effects of Capsicum in Hindi

रक्त विकार से जूझ रहे लोगों को शिमला मिर्च का सेवन नहीं करना चाहिए। …

ब्लड प्रेशर के मरीजों को शिमला मिर्च का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। …

सर्जरी के दो हफ्ते पहले से इसका सेवन छोड़ देना सही रहता है, नहीं तो सर्जरी के समय यह ज्यादा रक्त बहाव का कारण बन सकता है।

शिमला मिर्च का सेवन ब्लड शुगर में इजाफा कर सकता है, लेकिन इसका कोई ठोस प्रमाण उपलब्ध नहीं है। इसलिए, सावधानी के तौर पर इसका सेवन थोड़ी मात्रा में ही करें।

कुछ लोगों में शिमला मिर्च के सेवन से एसिडिटी की समस्या देखी गयी हैं।

शिमला मिर्च का सेवन कुछ लोगों के लिए एलर्जी का कारण बन सकता है, इसलिए अगर किसी को पहले से कोई एलर्जी है, तो इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें

Leave a Reply