Aparajita Flowers | Amazing benefits of blue tea | aparajita flowers remedies for wealth and success in hindi | blue butterfly flower health benefits .aparajita phool ki chai in hindi

हेल्थ
aparajita flower
aparajita flower

Aparajita Flowers | Amazing benefits of blue tea | aparajita flowers remedies for wealth and success in hindi | blue butterfly flower health benefits | aparajita phool ki chai in hindi

Aparajita Flowers : नीली चाय यानी ब्‍लू टी पीने का चलन पिछले कुछ सालों से काफी पॉपुलर हो रहा है. यह चाय दिखने में जितनी आकर्षक है, इसके फायदे भी अनगिनत हैं. इस चाय को ब्‍लू बटरफ्लाई (Blue Butterfly)

यानी अपराजिता के फूलों से तैयार किया जाता है. बता दें कि अपराजिता के फूल (Aparajita Flowers) का इस्‍तेमाल आयुर्वेद में डायबिटीज के रोगियों के इलाज के अलावा कई औ‍षधियों के लिए किया जाता रहा है.

साथ ही अपराजिता के फूल को हिंदू धर्म में बहुत खास माना जाता है। बगीचों और घरों की शोभा बढ़ाने के लिए लगाया जाने वाला अपराजिता को आयुर्वेद में विष्णुक्रांता, गोकर्णी आदि नामों से जाना जाता है। अपराजिता का फूल (Aparajita Flowers) मोर पंख जैसा दिखता है। यह फूल भगवान विष्णु को बहुत प्रिय है।

इसके अलावा नीले रंग का यह फूल शनि देव को प्रसन्न करने में भी काफी मददगार होता है। अपराजिता के फूल को धर्म के अलावा ज्योतिष में भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में अपराजिता के फूलों के लिए ऐसे कारगर उपाय बताए गए हैं जो तेजी से असर दिखाते हैं।

बात चाहे धन प्राप्ति की हो या नौकरी-व्यवसाय में सफलता पाने की, अपराजिता फूल का उपाय इन सभी के लिए बहुत कारगर होता है।

शंखपुष्पी के नाम से मशहूर इस आयुर्वेदिक फूल को वजन कम करने और हार्ट को बेहतर रखने के लिए भी किया जाता रहा है. तो आइए जानते हैं कि आप इसका इस्‍तेमाल चाय के रूप मे कैसे कर सकते हैं और इस नीली चाय के क्‍या-क्‍या फायदे होते हैं.

aparajita flower benefits
aparajita flower benefits

ब्लू टी बनाने की विधि

ब्लू टी (blue tea) बनाने के लिए आप एक पैन में 1 कप पानी लें और इसे उबालें. जब ये उबल जाए तो इसमें 4 से 5 अपराजिता के फूल डालें और इसे अच्छी तरह से उबलने दें. अब इस चाय में को प्‍याली में छान लें और स्‍वाद के अनुसार हल्का-सा शहद मिलाकर सर्व करें.

इसे भी पढ़ें: know Bubble Tea history

ब्लू चाय पीने के फायदे

कोलेस्‍ट्रॉल करती है कम – ब्लू चाय के सेवन से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर तरीके से काम करता है और दिल की कई बीमारियां दूर रहती हैं.

घटाए वजन – वजन घटाने के लिए अगर आप रोज सुबह सिर्फ एक कप ब्लू टी (blue tea) पिएं तो कुछ ही दिनों मे आपका वजन घट सकता है. अपराजिता के फूल फैट बर्न करने में काफी सहायक होते हैं.

पीरियड्स करे रेगुलर – महिलाओं को अगर पीरियड्स रेगुलर नहीं होता है, तो वे रोजाना इस चाय का सेवन करें. ऐसा करने से कुछ ही दिनों में पीरियड्स की ये समस्‍या खत्‍म हो जाएगी.

आंखों की रौशनी बढ़ाए – ब्‍लू टी (blue tea) के सेवन से आंखों की रोशनी में भी इजाफा होता है. आंखों की थकान, जलन और सूजन से भी छुटकारा दिलाने के लिए आप इसका सेवन कर सकते हैं.

एजिंग रखे दूर – अगर आप नियमित ब्लू टी का सेवन करें, तो इससे एजिंग के लक्षण कम हो सकते हैं. चेहरे पर होने वाले फाइन लाइन्‍स और बढ़ती उम्र के निशान से भी छुटकारा मिल जाता है.

बॉडी करें डिटॉक्स – ब्लू टी में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाया है जो इम्यूनिटी को मजूबत करती हैं. शरीर में मौजूद टॉक्सिक को भी फ्लश करता है.

बालों को बनाए मजबूत – बालों के लिए भी ब्लू टी का सेवन फायदेमंद होता है. इसमें मौजूद विटामिन्स और मिनरल्स बालों को मजबूत, घना और मुलायम बनाते हैं.

इसे भी पढ़ें: How To Prepare White Tea | White Tea Nutrients

एंटी-डायबिटीक गुण – अगर आप रोजाना एक कप ब्लू टी का सेवन करें, तो इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है, जिससे डायबिटीज की समस्या दूर रहती है.

दूर होता है एंग्जायटी और डिप्रेशन – अगर आप डिप्रेशन या एग्जायटी से जूझ रहे हैं, तो आपको ये ब्लू टी (Blue tea)जरूर अपने डाइट में शामिल करना चाहिए. इसमें मौजूद अमीनो एसिड आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर रखता है और तनाव को दूर रखने में मदद करता है.

FAQ:

Q : अपराजिता की जड़ से क्या होता है?

Ans:वैसे तो आयुर्वेद में इस वनस्पति का बहुत महत्व है इसकी जड़ को कान पर बांधने से ही माइग्रेन की समस्या या सिर दर्द में राहत मिलती है. कहीं पर भी घाव हो जाए तो इसके पत्तों को लगाने से वहां इंफेक्शन नहीं होता है

Q : अपराजिता फूल कौन से भगवान को चढ़ता है?

Ans:अपराजिता का फूल शनिदेव और भगवान विष्णु को पसंद होता है. कहा जाता है कि इसके कुछ उपाय करने से धन की समस्या खत्म हो सकती है

Q : अपराजिता के फूल का क्या महत्व है?

Ans:अपराजिता के फूल के जरिए ऐसे तमाम ज्योतिषीय उपाय किए जाते हैं, जिससे नारायण, माता लक्ष्मी और शनिदेव की कृपा परिवार पर बनी रहती है और धन से जुड़ा कोई भी संकट समाप्त हो जाता है, परिवार में संपन्नता आती

Q : अपराजिता के पौधे में फूल कब आते हैं?

Ans:अपराजिता के पौधे में फूल बीज अंकुरित होने के बाद 6 से 8 महीने का समय लगता है।

Q : अपराजिता की जड़ क्या काम आती है?

Ans:अपराजिता में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-स्ट्रेस, एंटी-डिप्रेसेंट, एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं, जिस वजह से जीवाणु, तनाव की समस्या, अवसाद की समस्या, रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट में सूजन आदि की वजह से होने वाली खांसी, जुकाम, अस्थमा जैसी समस्याओं में यह हर्बल सप्लीमेंट काफी उपयोगी होता है।

Q : अपराजिता की जड़ से क्या होता है?

Ans:वैसे तो आयुर्वेद में इस वनस्पति का बहुत महत्व है इसकी जड़ को कान पर बांधने से ही माइग्रेन की समस्या या सिर दर्द में राहत मिलती है. कहीं पर भी घाव हो जाए तो इसके पत्तों को लगाने से वहां इंफेक्शन नहीं होता है

Leave a Reply