Barnyard Millet in hindi | Benefits Of Barnyard Millet | How To Use Barnyard Millet | Barnyard Millet क्या है

हेल्थ
barnyard millet
barnyard millet

Barnyard Millet in hindi | Benefits Of Barnyard Millet | How To Use Barnyard Millet | Barnyard Millet क्या है

Barnyard Millet : बाजरे को अंग्रेजी में Millet कहां जाता है और यह Barnyard बाजरा काफी मामले में दूसरे बाजारों से अलग है इस अनाज के विश्व के कई देशों में उगाया जाता है इसके पौधे का लंबाई 60 से 130 सेंटीमीटर तक होती है.

भारत में इस अनाज का सेवन ज्यादातर उपवास के दौरान किया जाता है. भारत में शुरू प्रचलित त्यौहार नवरात्रि के दौरान व्रत को समाप्त करने में इस Barnyard Millet

का उपयोग किया जाता है. इस बाजरे के कई अद्भुत गुण है जिसके कारण भारत में प्राचीन काल से इसका इस्तेमाल किया जा रहा है.

इसे भी पढ़े : Millet in Hindi | Different Types of Millets in Hindi

Barnyard Millet क्या है? – Barnyard Millet in Hindi

2000(BC) ईसा पूर्व जापान में इस अनाज को सबसे पहले उगाया गया इसलिए Barnyard Millet का Origin Japan से आया है कागजी तौर पर ऐसा माना गया है साथी इसका दूसरा नाम Japanese Barnyard Millet अथवा Japanese Millet है.

Barnyard Millet in Hindi

इस अनाज का वैज्ञानिक नाम, Echinochloa esculenta है और यह घास प्रजाति से ताल्लुक रहता है. भारत, जापान, चाइना, और कोरिया सिर्फ इन देशों में इसकी खेती की जाती है. जापान में इसे चावल के तरीके से पकाया जाता है और इसे चावल का दूसरा रूप माना जाता है.

Barnyard Millet को हिंदी में क्या कहते हैं – Barnyard Millet Meaning in Hindi

Barnyard Millet को जैसे जापानी बाजरा यानी Japanese Barnyard Millet कहां जाता है वैसे ही भारत के अन्य अन्य राज्यों में भी इसे अलग नामों से जाना जाता है तो आइए जानते हैं हिंदी के साथ-साथ तमिल, तेलुगू, बंगाली इन भाषाओं में इसे क्या कहते हैं.

इसे भी पढ़े : Bajra Benefits | pearl millet benefits | Bajra Benefits, Uses, and Nutrition | bajre ke fayde aur nuksan | bajre ki roti

Barnyard Millet in Hindi में “संवत के चावल/सावा चावल ” (Samvat Ke Chawal) कहां जाता है. यानी कि मुख्य तौर पर हिंदी में इसे ” संवत के चावल अथवा सावा चावल ” के नाम से जाना जाता है. इसके अलावा भारत के अन्य राज्यों में इसके अलग-अलग नाम दिए गए हैं.

दक्षिण भारत में इसे कुछ अलग ही नाम से जाना जाता है तो फिर देर किस बात की ! आइए जानते हैं भारत के अन्य राज्यों में इसे किन-किन नामों से जाना जाता है.

•Barnyard Millet in Hindi : संवत के चावल/सावा चावल (Samvat Ke Chawal)
•Barnyard Millet in Tamil : कुथिरैवली (Kuthiraivali)
•Barnyard Millet in Telugu : उदलू,कोडिसमा (Udalu,Kodisama)
•Barnyard Millet in Kannada : ओडलू (Oodalu)
•Barnyard Millet in Malayalam : कवादापुल्लू (Kavadapullu)
•Barnyard Millet in Punjabi : स्वांक (Swank)
•Barnyard Millet in Bengali : श्यामा (Shyama)
•Barnyard Millet in Oriya : खीरा (Khira)

barnyard millet
barnyard millet

उम्मीद है कि Barnyard Millet को भारत के अन्य राज्यों में किस नामों से जाना जाता है आपको पता लग गया होगा, अब हम जानेंगे इसके फायदे क्या है!

इसे भी पढ़े : Millet Usage, Cooking Tips, Nutritional Values, benefits and Side effects

Barnyard Millet के फायदे क्या है – Benefits Of Barnyard Millet in Hindi

Barnyard Millet का स्वाद मीठा होता है, और इसका रंग पूरी तरह से सफेद नहीं होता, साथी इसका आकार साबूदाने से भी थोड़ा छोटा होता है. सबसे पहले जानेंगे इसमें कौन से पोषक तत्व है और इसे क्यों व्रत में भी खाया जा सकता है और यह हमारे शरीर पर क्या महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है.

आयरन,कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फोलिक एसिड, जिंक, प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन B1,B2,B3 भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इसके यही खासियत के लिए लोग व्रत के दौरान इसे ग्रहण करते हैं. ताकि शरीर में होने वाली कमजोरियों को तुरंत दूर किया जा सके.

गर्भावस्था के दौरान फायदेमंद – इसमें प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है अगर महिलाओं के अंदर खून की कमी हो गर्भावस्था के दौरान तो यह एक उत्तम भोजन माना जाता है. खून की कमी को पूरा करने में साथी गर्भपात के बाद शरीर काफी कमजोर हो जाता है तब भी महिलाएं इसका सेवन कर सकती हैं और पेट में पलने वाले बच्चे को भी खून की कमी नहीं होती.

इसे भी पढ़े : रागी को बनाएं अपने आहार का हिस्सा,जाने रागी के फायदे और नुकशान

थकान/कमजोरी दूर करें – यह अनाज उन लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद है जिनको थकान कमजोरी हर वक्त नींद आना इस तरह की समस्या बनी रहती है साथ ही जिन को एक जगह बैठ कर लंबे समय तक काम करना होता है और एनर्जी नहीं रहता उनके लिए भी यह एक आदर्श भोजन के रूप में ग्रहण किया जा सकता है.

लीवर के लिए फायदेमंद – यह लिवर, किडनी के लिए भी जबरदस्त औषधि के रूप में काम करता है. साथ ही इसका महत्वपूर्ण काम है गॉलब्लैडर और लिवर को साफ करना साथी जितने भी गंदगी इन में जमा है उनको मल द्वारा शरीर से बाहर निकाल फेंकना और यह फैटी लिवर, जौंडिस, लिवर इनफेक्शन, हेपेटाइटिस A,B,C इन सब लोगों से बचाए रखने में फायदेमंद है.

अन्य लोगों से मुक्ति – इस अनाज के और भी बहुत सारे फायदे हैं जिनमें से कुछ! जैसे कि किडनी को साफ करें, किडनी स्टोन से बचाए, साथी कैंसर जैसे घातक बीमारी से भी बचाए रखने में मदद करें इसके सेवन द्वारा आप अपना वजन भी घटा सकते हैं इसमें बहुत सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो कुपोषण से बचाए रखने में मदद करता है.

इसे भी पढ़े : Brown Rice Benefits and Side Effects in Hindi

Leave a Reply