Shirley Temple Google Doodle: जानिए कौन हैं शर्ले टेम्पल आज जिन पर गूगल ने डूडल

न्यूज़
शर्ले टेम्पल
शर्ले टेम्पल (Shirley Temple)

Shirley Temple Google Doodle: जानिए कौन हैं शर्ले टेम्पल आज जिन पर गूगल ने डूडल
Advertisement

आज का Google डूडल अमेरिकी अभिनेत्री, गायक, नर्तक और राजनयिक शिर्ले टेंपल को सम्मानित करता है। शिर्ले टेम्पल (Shirley Temple) ने केवल तीन साल की थी, जब उन्होंने डांस की प्रैक्टिस शुरू की थी. हॉलीवुड के शीर्ष बॉक्स ऑफिस ड्रॉ के रूप में उन्होंने ग्रेट डिप्रेशन की कठिनाइयों के माध्यम से लाखों अमेरिकियों की मदद की। 

बाद में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय संबंधों में अपने काम के माध्यम से लोगों के दिलों में अपनी एक अलग जगह बनाई. शिर्ले टेम्पल (Shirley Temple) ने साल 1934 में एक दर्जन फिल्मों में अभिनय किया, जिसमें ‘ब्राइट आइज’ भी शामिल है. वह अकादमी अवार्ड पाने वाली पहली बाल कलाकार थीं. उस वक्त उनकी उम्र महज 6 साल थी । यह भी पढ़े : Baba ka Dhaba : बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद का बंद हो गया नया रेस्टोरेंट

गूगल ने अमेरिकन एक्टर, सिंगर, डांसर और डिप्लोमेट शर्ले टेम्पल जिन्हे ‘लिटिल मिस मिरेकल’ भी कहा जाता है उनको एनिमेटेड डूडल के साथ सम्मानित किया. गूगल द्वारा आज इन्हें डूडल बनाकर सम्मानित क्यों किया गया है लेकिन क्या आप जानते है ये कौन हैं शिर्ले टेम्पल (Shirley Temple) आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने जा रहे हैं। 

Shirley Temple
शर्ले टेम्पल (Shirley Temple)

आज ही के दिन साल 2015 में सांता मोनिका हिस्ट्री म्यूजियम ने ‘लव शिर्ले टेम्पल’ नाम से एक्सिबिशन की शुरुआत की थी, जिसमें उनसे जुड़ी कुछ यादों को संग्रह कर रखा गया है. लोग इस डूडल की जमकर तारीफ कर रहे हैं। 

इस एनिमेटेड डूडल में शिर्ले टेम्पल को एक डिप्लोमेट, अवार्ड विनिंग एक्टर और यंग गर्ल डांसर के रूप में दिखाया गया है. डूडल के नीचे तीन मूवी स्टब्स पर सर्च इंजन के नाम भी नजर आता है। 

शिर्ले टेम्पल (Shirley Temple) हर चीज से लगाव रखती थीं. इस गूगल डूडलके द्वारा उनके प्यार, एहसास और उनकी ताकत के बारे में जाना जा सकता है. आज Google डूडल के माध्यम से उन्हें उतना ही प्यार और सम्मान दिया जा रहा है। यह भी पढ़े : Dilip kumar biography : दिलीप कुमार का जीवन परिचय

अकादमी अवार्ड पाने वाली पहली बाल कलाकार थीं शिर्ले

23 अप्रैल, 1928 को कैलिफोर्निया के सांता मोनिका में जन्मीं अभिनेत्री और गायक शर्ले, बैंक मैनेजर जार्ज टेम्पल और जर्ट्रूड की तीसरी संतान थीं। शर्ले की मां जर्ट्रूड शुरू से ही बैले डांसर बनना चाहती थीं। लेकिन उनका लंबा कद उनके इस शौक के आड़े आ गया। लिहाजा, वो बेटी शर्ले के जरिए अपना अधूरा सपना पूरा करना चाहती थीं।

शर्ले की मां ने उन्हें महज तीन साल की उम्र में ही डांस सिखाना शुरू कर दिया था। शर्ले को तीन साल की छोटी सी उम्र में ही डांस स्कूल की स्क्वॉयड ने चुन लिया था। डांस सिखने के दौरान ही एजुकेशनल पिक्चर्स के निर्देशक की नजर शर्ले पर पड़ी और उन्होंने शर्ले को अपने स्टूडियो में ऑडिशन के लिए बुलाया।

ब्राइट आई से मिली पहचान

शर्ले पहली बार ‘पावर्टी रो’ फिल्म के जरिए स्क्रीन पर आईं। शर्ले को पहचान मिली 1934 में आई फिल्म ‘ब्राइट आई’ से। ‘आन द गुटशिप लॉलीपॉप’ में शर्ले की आवाज और उनके चेहरे ने पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ दी।

महज चार साल की उम्र में अपने अभिनय करियर की शुरुआत करने वालीं शर्ले को दो साल में ही पॉपुलैरिटी मिल गई थी और वो हॉलीवुड की पहली बाल कलाकार थीं।

शर्ले ने 43 फिल्मों में काम किया

शर्ले ने साल 1934 से 1938 तक हॉलीवुड में बाल कलाकार के रूप में काम किया। शर्ले टेम्पल ने 21 साल की उम्र तक 43 फिल्मों में काम कर लिया था। इसके बाद उन्होंने साल 1950 में सिनेमा की दुनिया से दूरी बनाने का फैसला किया। यह भी पढ़े : immunity booster fruits : इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करें इन फलों का सेवन

शर्ले ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की। शर्ले घाना में एक राजदूत और प्रोटोकॉल की पहली महिला प्रमुख बनीं। उन्होंने इस दौरान कई लोगों की मदद की और उनका राजनीति में आने का फैसला लोगों को काफी पसंद आया। शर्ले ने अपनी आत्मकथा “चाइल्ड स्टार” भी लॉन्च की।

उनकी याद में खोला गया था म्यूजियम

आज गूगल ने “लव शर्ले टेम्पल” के उद्घाटन वर्षगांठ के जश्न में डूडल के रूप में उन्हें सम्मानित किया है। आज ही के दिन साल 2015 में शर्ले की याद में ये संग्रहालय खोला गया था। इस संग्रहालय में उनकी दुर्लभ यादगार चीजों को रखा गया है।

साल 2014 में हुआ निधन

इतनी उपलब्धि हासिल करने के बाद शर्ले टेम्पल ने 10 फरवरी, 2014 को 85 वर्ष की उम्र में दुनिया से विदा ली। उनका निधन कैलिफोर्निया में हुआ । आखिरी वक्त में उनका पूरा परिवार उनके साथ मौजूद था। आज भी शर्ले टेम्पल के अभिनय, गानों और उनकी राजनीतिक सफर को लोग याद करते हैं।

2 comments

Leave a Reply