PREGNANCY में क्या खाये और क्या नहीं खाये

हेल्थ
PREGNANCY EATING FOOD
PREGNANCY EATING FOOD

Table of Contents

गर्भावस्था में कौन-सी चीजों को खाना है और कोन सी चीजों को नहीं खाना है ?


PREGNANCY EATING FOOD : What to eat and what not to eat during pregnancy

गर्भावस्था में स्पाइरुलीना (spirulina) खाने के फायदे

गर्भावस्था (pregnancy) में स्पाइरुलीना (spirulina)

Advertisement
खाना चाहिए क्युकी इसमें लोहे की एक उच्च सामग्री होती है जो गर्भावस्था (pregnancy) में बहुत लाभदायक होती है स्पाइरुलीना के प्रयोग के एनीमिया और कब्ज की समस्या में राहत मिलती है

गर्भावस्था (pregnancy) में साबुत अनाज खाने के फायदे

गर्भावस्था (pregnancy) में अगर भोजन में साबुत अनाज जैसे गेहूं, ओट, मक्‍का, ज्‍चार, बाजरा जैसे मोटे अनाज अगर आहार में शामिल किए जाएं तो इनसे जरूरी विटमिन मिलते हैं जो बच्‍चे की गर्भनाल के विकास में योगदान देते हैं। इनसे आपको जरूरी ऊर्जा भी मिलेगी और पाचन भी सही रहेगा।पर इस सभी को एक निश्चित मात्रा में खाना चाहिए

गर्भावस्था (pregnancy) में सर्दी खाशी होने पर आप विक्क् की टॉफी खा सकते है परन्तु ज्यादा ना खाये क्युकी यह गर्म होती है

गर्भावस्था (pregnancy) में ड्राई फ़ूड के फायदे

गर्भावस्था (pregnancy) में बादाम, अखरोट जैसे मेवे आयरन और प्रोटीन के भी अच्छे स्त्रोत हैं। ऐसे ड्राई फ़ूड आपके और आपके शिशु के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। और अगर आप शाकाहारी हैं, तो यह ड्राई फ़ूड आपके लिए वरदान है

रिसर्च में भी सलाह दी गई है, की गर्भावस्था (pregnancy) में खजूर खाये

गर्भावस्था (pregnancy) में खजूर खाने से शरीर में ऑक्सि‍टोसिन की मात्रा सही होती है जो डिलीवरी के समय यूटरेस की सेंसिटीविटी को बढ़ाने का काम करती है।

ऑक्‍स‍िटोसिन, प्रोस्टाग्लेंडिंस को प्रोड्यूस करता है जो लेबर के लिए बहुत जरूरी है। इससे यूटरेस में संकुचन क्रिया तेज हो जाती है। कई रिसर्च में भी गर्भवती महिलाओं को खजूर के सेवन की सलाह दी गई है

गर्भावस्था (pregnancy) में प्रतिदिन शहद की मात्रा

शहद में फ्रूक्‍टोज, ग्‍लूकोज और मैल्‍टोज जैसे शुगर भी उच्‍च मात्रा में होते हैं इसलिए सिर्फ एक चम्‍मच शहद में ही लगभग 60 कैलोरी होती है। इस प्रकार गर्भावस्था (pregnancy) में महिलाओं को प्रतिदिन 4 चम्‍मच शहद से ज्‍यादा नहीं खाना चाहिए।

गर्भावस्था (pregnancy) में कुंदरू खाये या ना

अगर आपको कुंदरू से एलर्जी नहीं है तो आप गर्भावस्था (pregnancy) उसकी सब्जी खा सकते हो. उसमे से काफी फाइबर मिलता है. पर एक साथ बहोत ज्यादा ना खाये

गर्भावस्था (pregnancy) में पेठा खाना उचित या नहीं

आप गर्भावस्था (pregnancy) में पेठा खा सकती है लेकिन बहुत ही सिमित मात्रा में आप खाएं यह आयरन, कैल्शियम, सल्फर, फास्‍फोरस एवं विटामिन-ए, बी, सी और ई से भरपूर होता है।

विटामिन ई बहुत कम फलों और सब्जियों में मिलता है। इसमें प्रोटीन भी बहुत अधिक मात्रा में होता है। पेठा हमारे शरीर को बल देता है और खून और पेट को साफ रखता है।

गर्भावस्था (pregnancy) में दलिया खाने से लाभ

गर्भावस्था (pregnancy) में दलिया का सेवन करना बहुत ही अच्छा होता है दलिया फाइबर और प्रोटीन का एक बहुत अच्छा स्रोत है जो बच्चे के लिए काफी स्वास्थ्यवर्धक है

दलिया बहुत ज्यादा डाइजेस्टिव है इसलिए आप निश्चित होकर इसका सेवन रोज कर सकती है दलिया आपकी और आपके बच्चे के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है और प्रोटीन युक्त है

गर्भावस्था (pregnancy) में विटामिन सी के फायदे

READ MORE : Skin care: सर्दियों में रखे अपना खास ख्याल.


विटामिन सी में एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं जो शरीर को संक्रमण और विषाक्‍त पदार्थों से बचाते हैं। ये ऊतकों को रिपेयर करता है, घाव भरने और हड्डियों के विकास में मददगार है। विटामिन सी कोलाजन बनाने में महत्‍वपूर्ण होता है।

गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान न केवल बच्चे के लिए बल्कि खुद की अच्छी सेहत को लिए जो चीजों को नहीं खाना चाहिए वह हैं

गर्भावस्था (pregnancy) में  मुलेठी नहीं खाना

गर्भावस्था (pregnancy) में मुलेठी को किसी भी रूप में नहीं खाना चाहिए, इससे समय से पहले प्रसव पीड़ा शुरू हो सकती है।

गर्भावस्था (pregnancy) में पपीता खाने से बचे 

गर्भावस्था (pregnancy) में महिलाओं को पपीता खाने से बचना चाहिए क्योंकि यह भ्रूण को नुक्सान पहुंचा सकता है। पपीते में लेटेक्स की मात्रा ज्यादा होती है जो गर्भाशय सिकुडन का कारण बन सकता है।

अनानास भी नहीं खाना चाहिए गर्भावस्था (pregnancy) में

अंकुरित चीजें खाने से बचे 

गर्भावस्था (pregnancy) कच्ची अंकुरित चीजें न खाएं, इसमें ऐसे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जिससे गर्भावती महिला को उल्टी या दस्त हो सकते हैं। जो बच्चे की सेहत पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं।

गर्भावस्था (pregnancy) कॉफी का ज्यादा सेवन नहीं करे 

गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान कॉफी का ज्यादा मात्रा सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें कैफीन की मात्रा ज्यादा होती है जो बच्चे के लिए नुकसानदेय है। ‌

READ MORE : सबसे महंगी कॉफी Kopi luwak तैयार के विधि जानकर हो जायेगे हैरान

गर्भावस्था (pregnancy) में कच्चे और Half Boil अंडे नहीं खाये

गर्भावस्था (pregnancy) में कच्चे और Half Boil अंडे नहीं खाने चाहिए, इससे पेट में दर्द या डायरिया की संभावना होती है। जिससे Premature डिलीवरी का खतरा बढ़ जाता है।

READ MORE : Figs health benefits

गर्भावस्था (pregnancy) में मछली से भी दुरी रखे

मछली से दूरी बनाकर रखनी चाहिए क्योंकि इसमें मर्करी की उच्च मात्रा पाई जाती है, जिससे बच्चे के विकास पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

गर्भावस्था (pregnancy) में बैंगन और कटहल का सेवन ज्यादा नहीं करे 

गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान बैंगन और कटहल की सब्जी का सेवन ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए। बिना धुली सब्जियों और फलों का सेवन न करें क्योंकि इनके छिलकों ऊपर हानिकारक कीटनाशक होते हैं, जो पल रहे बच्चे के लिए नुकसानदेय हो सकते हैं।

मादक पदार्थ (शराब सिगरेट आदि )का सेवन ना करे

कई लड़कियां भी शराब का सेवन करतीं हैं। गर्भावस्था के दौरान उन्हें शराब के सेवन से दूर रहना चाहिए। इससे बच्चे को बहुत नुक्सान पहुंच सकता है।

गर्भावस्था (pregnancy) में काली मिर्च का इस्तेमाल घातक है

गर्भावस्था (pregnancy) में काली मिर्च का इस्तेमाल घातक हो सकता है। खासकर गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान महिलाओं को समस्या हो सकती है या गर्भपात जैसी समस्या भी खड़ी हो सकती है।

अधिक मीठे और डिब्बा बंद खाद्य पदार्थो के ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।

गर्भावस्था (pregnancy) में कच्चे दूध का भी सेवन नहीं करना चाहिए इससे पेट से संबंधित परेशानी हो सकती है, जो बच्चे के लिए नुकसानदेय है।

ध्यान रहे की जो चीजे हम  गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान खाते है, वह खुराक के रूप में बच्चे को भी पहुंचती है।

(Disclaimer: इस लेख में दी गई सभी जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. https://sangeetaspen.com/ इन बातो की पुष्टि नहीं करता है। इन विचारो पर अमल करने से पहले संबंधित डॉक्टर/विशेषज्ञ से संपर्क अवश्य कर ले)

Leave a Reply