HantaVirus: चीन में कोराना वायरस के बाद एक और नया वायरस

न्यूज़
HantaVirus: चीन में कोराना वायरस के बाद एक और नया वायरस
HantaVirus: चीन में कोराना वायरस के बाद एक और नया वायरस
इमेज सौजन्य :बोल्डस्काई हिंदी

चीन में कोरोनावायरस (Coronavirus) के बाद अब हंता नामक वायरस ने हड़कंप मचा रखा है। हंता वायरस (Hantavirus in China) से चीन में एक व्यक्ति की मौत हो गयी है चीन के साथ साथ सम्पूर्ण विश्व पहले से ही कोरोनावायरस (Coronavirus)

Advertisement
की मार से जूझ रहां है ओर ऐसे समय पर चीन के यूनान प्रांत में एक व्‍यक्ति की सोमवार को हंता वायरस (Hanta virus) से मौत होने से हड़कंप मच गया है। यह व्यक्ति काम के स‍िलसिले में शाडोंग प्रांत जा रहा था परन्तु बस में ही मृत मिला जिसके बाद बस में सफर कर रहे 32 अन्‍य लोगों की भी जांच की गई है। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स ने ट्वीट कर इस इस घटना की जानकारी दी।

चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स ने ट्वीट कर इस इस घटना की जानकारी दी।

कोरोनोवायरस (Coronavirus Outbreak) का प्रकोप पुरे विश्व में बहुत तेजी से फैल रहा है। ऐसे समय पर चीन में हंता वायरस से एक व्यक्ति की मोत हो जाने के बाद सोशल मीडिया पर एक और महामारी फैलने की चर्चा होने लगी

यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार

हंता वायरस मुख्य रूप से चूहों, गिलहरियों के द्वारा फैलता है। यूरोप ओर एशिया में इसे ओल्ड हंता वायरस तथा अमेरिका में नई वर्ल्ड हंता वायरस के नाम से जाना जाता है हंता वायरस अलग अलग प्रकार होते है।
हंता वायरस से होने वाली बीमारी 
इससे होने वाली बीमारी को पल्मोनरी सिंड्रोम कहा जाता है सामान्यत यह चूहों, गिलहरियों के मल, यूरिन,और लार के सम्पर्क में आने से फैलता है

हंता वायरस के लक्षण क्या है (Symptoms Of Hanta virus),

तेज़ बुखार आना, बदन दर्द ,सर दर्द, उल्टिया आना, डायरिया आदि लक्षण संक्रमण का इसारा करते है 4 से 10 दिनों में यह संक्रमण गंभीर हो जाता है जिसके कारण फेफड़ो में पानी भर जाता है ओर साँस लेने में परेशानी होती है, अगर समय पर उचित इलाज नहीं किया गया तो रोगी की मोत संभव है
चीन में भी मोत से पहले उस पिडित व्यक्ति में यही सब लक्ष्ण दिखे थे। इस संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का समय लग जाता है

किन क्षेत्रों में हंता वायरस का खतरा ज्यादा होता है

ग्रामीण क्षेत्रों में तथा जहा पेड़ पौधे तथा अनाज अधिक होता है क्यों की ऐसे स्थानों पर चूहों की संख्या अधिक होती है 

हंता वायरस ओर कोरोना वायरस में क्या अंतर है और कौन सा वायरस अधिक खतरनाक है

कोरोना वायरस इंसानो से इंसानो में फैलता है और हंता वायरस तब फैलता है जब कोई व्यक्ति चूहों ओर गिलहरियों के मल, यूरिन,ओर लार के सम्पर्क में आ जाता है 
परन्तु अर्जेंटाइना ओर चिली में इसके दुर्लभ मामले आये है जिनमे हन्ता वायरस से संक्रमित व्यक्ति के द्वारा दूसरे व्यक्ति को छूने से उसमे भी हंता वायरस के लक्षण नजर आने लगे कोरोना वायरस की अपेक्षा हंता वायरस ज्यादा खतरनाक है

क्या हंता वायरस की कोई वैक्सीन है

अब तक हंता वायरस की कोई भी वैक्सीन नहीं बनी है ओर ना ही कोई तय इलाज है ऐसे मरीज़ो को खास देखभाल की जरूरत होती है ओर इन मरीज़ो को आक्सीजन थैरेपी दी जाती है

2 comments

Leave a Reply