Bitter Gourd side effects in hindi | Disadvantages of Eating Bitter Gourd | bitter gourd should not be consumed these people | Karela Khane Ke Nuksan

हेल्थ
Bitter Gourd side effects in hindi

Bitter Gourd side effects in hindi | Disadvantages of Eating Bitter Gourd | bitter gourd should not be consumed these people | Karela Khane Ke Nuksan | इन लोगों को नहीं करना चाहिए करेले का सेवन 

Bitter Gourd : करेला स्वाद में काफी कड़वा होता है,सभी जानते हैं लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है.खासकर हेल्दी हार्ट के लिए करेला काफी अच्छा होता है. लेकिन करेले (bitter gourd)

Advertisement
का सेवन करने से सेहत पर काफी बुरा असर पड़ता है चलिए sangeetaspen.com में आपको बताएंगे कि किन लोगों को करेले का सेवन नहीं करना चाहिए. 

bitter gourd should not be consumed these people | इन लोगों को नहीं करना चाहिए करेले का सेवन | Bitter Gourd side effects in hindi 

गर्भवती महिलाओं को नहीं चाहिए- करेला के जूस का सेवन करने से पीरियड्स का फ्लो बढ़ जाता है. वहीं प्रेग्नेंसी के दौरान करेले का अधिक सेवन करने से मिसकैरिज हो सकता है इसलिए गर्भवती महिलाओं को करेले का जूस पीने से बचना चाहिए.

हाइपोग्लाइकेमिया कोमा – करेले का सेवन शुगर कम करता है लेकिन आवश्यकता से अधिक रक्त में शुगर का स्तर इतना कम कर देता है कि यह हाइपोग्लाइकोम‌िया कोमा नामक मानसिक समस्या का कारण हो सकता है।

लिवर को हो सकता है नुकसान- डायबिटीज के पेशेंट ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए रोजाना करेले के जूस का सेवन करते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि करेले का जूस पीने से डायबिटीज तो कंट्रोल हो जाता है लेकिन यह आपेक लिवर के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.बता दें करेले में लैक्टिन पाया जाता है

यह भी पढ़े : Obesity |मोटापा कम करने आसान तरीके |Vajan Kam Karne Ke Tips In Hindi | Motapa ghatane Ke Tips|

जिससे लिवल में एन्जाइम की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे लिवर को नुकसान हो सकता है. इसलिए करेले (bitter gourd) का रोज सेवन करने से बचना चाहिए. वहीं अगर आपको लिवर से जुड़ी कोई समस्या है तो भूलकर भी करेले का सेवन नहीं करना चाहिए.

हेमोलाइटिक अनीमिया – करेले के अत्याधिक सेवन से हेमोलाइट‌िक अनीमिया हो सकता है। इस स्थिति में पेट में दर्द, सिर दर्द, बुखार या कोमा जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

लो शुगर लेवल के मरीज – ये तो सभी को पता है कि करेला (bitter gourd) का सेवन करने से ब्लड शुगर को कंट्रोल में किया जाता है. लेकिन उन लोगों को करेले का सेवन नहीं करना चाहिए. जिनका ब्लड शुगर लो रहता है.इससे आपका शुगर लेवल और लो सकता है.

यह भी पढ़े : What is Diabetes in hindi | How many types of diabetes are there

फर्टिलिटी पर प्रभाव – न केवल गर्भावस्था बल्कि गर्भधारण की चाह रखने वाली महिलाओं और पुरुषों के लिए इसका सेवन नुकसानदायक हो सकता है। फर्टिलिटी से संबंधित दवाओं का असर करेले में मौजूद तत्व खत्म कर देते हैं।

BITTER GOURD
BITTER GOURD

FAQ:

Q : करेला गरम होता है क्या?

Ans : करेले ठंडा होता है, इसलिए यह गर्मी से पैदा हुई बीमारियों के उपचार के‍ लिए फायदेमंद है। यदि पाचन शक्ति कमजोर हो तो किसी भी प्रकार करेले का नित्य सेवन करने से पाचन शक्ति मजबूत होती है। करेला स्वयं भी शीघ्र पचता है। करेले की तासीर ठंडी होती है।

Q : करेला कब नहीं खाना चाहिए?

Ans : करेला रात में नहीं खाना चाहिए। क्योंकि रात को करेला खाने से बहुत सी स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर किसी को रात में करेला खाना ही है तो उसके बीज निकालकर सरसो के तेल में पकाएं। इस तरह से करेले का सेवन नुकसानदायक नहीं होता है।

Q : करेला खाने से क्या फायदा क्या नुकसान?

Ans : करेला का सेवन अनेक बीमारियों जैसे- पाचनतंत्र की खराबी, भूख की कमी, पेट दर्द, बुखार, और आंखों के रोग में लाभ पहुंचाता है। योनि या गर्भाशय रोग, कुष्ठ रोगों, तथा अन्य बीमारियों में भी आप करेला से फायदा ले सकते हैं। करेले से कमजोरी दूर होती है, और जलन, कफ, सांसों से संबंधित विकार में लाभ मिलता है।

Q : करेले खाने से क्या नुकसान है?

Ans : अगर आप करेले का बहुत ज्‍यादा सेवन करेंगे तो आपको पेट दर्द की समस्‍या हो सकता है। करेले का ज्‍यादा सेवन करने से कई लोगों को बुखार या स‍िर में दर्द का अहसास भी होता है। क‍िडनी की सेहत के लि‍ए भी करेले का ज्‍यादा सेवन नुकसानदायक माना जाता है।

Q : करेले में कौन सा विटामिन पाया जाता है?

Ans : करेले में प्रचूर मात्रा में विटामिन A, B और C पाए जाते हैं। इसके अलावा कैरोटीन, बीटाकैरोटीन, लूटीन, आइरन, जिंक, पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैगनीज जैसे फ्लावोन्वाइड भी पाए जाते हैं जो सेहत के लिए जरूरी है

Q : करेले का जूस कितने दिन तक पीना चाहिए?

Ans : यदि आप रोजाना एक गिलास करेले का जूस का सेवन करें तो कई प्रकार की पेट से जुड़ी हुई समस्याएं दूर हो जाती हैं। माना जाता है कि करेला इम्युनिटी के लिए अच्छा होता है। करेले में प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स, विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के होता है। इसके रोजाना सेवन से इम्यून सिस्टम बूस्ट और मजबूत हो जाता है।

Q : कितना Karela रस मधुमेह के लिए हर रोज पीने के लिए?

Ans : खासी के उपचार में भी करेला काफी फायदा करता है. मधुमेह रोगी को चौथाई कप करेले के रस में इतना ही गाजर का रस मिलाकर पिलाना चाहिए. इससे ब्लड शुगर का लेवल धीरे-धीरे कम होने लगता है. सुबह के समय करेला का जूस पीना बहुत ही फायदेमंद साबित होता है

करेले के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप मेरे यूट्यूब चैनल पर विजिट कर सकते है। अगर वहा पर आपको वीडियो पसंद आये तो चैनल को सब्सक्राइब , लाइक, शेयर, और कमेंट अवश्य करे

Leave a Reply